Connect with us

Health & wellness

Aerial yoga फिटनेस का नया ट्रेंड

Published

on

Share Post:

फिटनेस के लिए Aerial yoga को अपनाया जा रहा है। हवा में झूलते हुए योगाभ्यास करने का यानी एरियल योग (Aerial yoga) या एंटी ग्रेविटी योग का आनंद ही कुछ और है। योग (Yoga) के कई जानकार इसके भरपूर फायदों की बात को करते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि ये योग कभी भी बिना एक्सपर्ट या ट्रेनर की देख-रेख के ना करें।

Aerial yoga is taking off in a big way - Delicious Living

योगाभ्यास करते वक्त इन बातों का रखें ध्यान

  • ट्रेंड में है फिटनेस के लिए Aerial yoga
  • एरियल योगासन से पीठ दर्द में राहत मिलती है
  • Aerial yoga एक्सपर्ट या ट्रेनर की देख-रेख में ही करें

 Health Benefits of Aerial yoga

हवा में झूलते हुए योगाभ्यास करने का यानी एरियल योग (Aerial yoga) या एंटी ग्रेविटी योग का आनंद ही कुछ और है। इस योग (Yoga) के कई जानकार इसे सेहत के लिए अधिक फायदेमंद बताते हैं। लेकिन ये योग कभी बिना एक्सपर्ट या ट्रेनर की देख-रेख में ही करना चाहिए। एरियल योग (Aerial yoga) फिटनेस (Fitness) का ट्रेंड पूरी दुनिया में फैल रहा है। वैसे तो यह ट्रेंड हॉलीवुड और बाद में बॉलीवुड के सितारों के बीच शुरू हुआ था, क्योंकि वे कुछ अलग दिखना चाहते हैं, वो भी फोटोजनिक अंदाज में। लेकिन अब ये ना केवल सेलिब्रिटीज का पसंदीदा योग है बल्कि अब आम लोग भी इसे कर रहे हैं।

Advertisement

 योग करने का तरीका

एरियल योग या एंटी ग्रेविटी योग के जितने भी आसन है, वे सब हवा में झूलते हुए किए जाते हैं। ये नाम से ही साफ है। इसके लिए सिल्क के कपड़े का इस्तेमाल होता है। वास्तव में छत के मजबूत हुकों पर हमारा शरीर सिल्क के इन्हीं कपड़ों के झूलों पर टंगा होता है। आमतौर पर एरियल योग, जमीन से कम से कम दो से तीन फीट ऊपर लटकते हुए किए जाते हैं। इन्हें करते हुए हम खुद को नहीं देख पाते कि हमारे मूवमेंट सही हैं या नहीं। इसीलिए इसे ट्रेनर की देखरेख में ही करना चाहिए। हमारे शरीर की पोजीशन ऐसे आसनों को करते हुए बिल्कुल एक्यूरेट होनी चाहिए, इसलिए ट्रेनर का साथ रहना बेहद जरूरी है। एरियल योगासनों के लिए सिल्क की साड़ियां या चादरें अगर इस्तेमाल ना करें तो हाईडेंसिटी नाइलोन मैटीरियल का झूला भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस झूले को अपनी लंबाई के अनुरूप एडजस्ट करके छत पर मौजूद हुकों में लटका दें। जहां योगासन करें, वहां अपने नीचे मैट्रेस जरुर रख लें कि अगर किसी वजह से झूले से गिर पड़े या योग खत्म करने के लिए सीधे जमीन पर पैर रखना पड़े तो नीचे मैट्रेस मौजूद होने की वजह से चोट लगने की आशंका ना हो। हवा में लटकने की अपनी क्षमता धीरे-धीरे बढ़ाएं। पहले दिन से ही बहुत ज्यादा हवा में देर तक ना लटकें रहें वर्ना बदन में दर्द शुरू हो सकता है।

Aerial Yoga Swing / Anti Gravity Yoga Swing with Daisy Chain | Aerial yoga  hammock, Yoga hammock, Yoga swing

 

Advertisement

प्रमुख योगासन

एंटी ग्रेविटी योग में जिन आसनों को खासतौर पर प्रधानता दी जाती है। उसमें सूर्य नमस्कार, नटराजासन, चक्रासन, हलासन, वृक्षासन और वज्रासन हैं।

फायदे

Advertisement

एरियल योगासन के बहुत फायदे हैं। इससे पीठ दर्द में राहत मिलती है। इससे पेट के आस-पास के फैट को काबू में रखने में मदद मिलती है। पाचन में सुधार होता है और शरीर में रक्तसंचार भी बेहतर करने में मदद करता है।

सावधानियां

ये आसन तब तक सुरक्षित हैं, जब तक आप किसी एक्सपर्ट की देख-रेख में इसे करते हैं। वहीं आपको इन आसनों से होने वाली दुर्घटनाओं और लगने वाली चोटों से बचाने के ठोस उपाय बताते हैं। वास्तव में एंटी ग्रेविटी आसनों में सही पोज ही आपको सुरक्षित रखते हैं, अगर जरा भी पोज देने में गलती होने पर इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। ध्यान रखें एरियल योगासन को खाली पेट बिलकुल ना करें। हल्का भोजन करें। ट्रेनिंग शुरू करने के पहले ढेर सारा पानी भी पी लें।

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.