Connect with us

Health & wellness

राहत-अब मध्य प्रदेश में हो सकेगा जीनोम सीक्वेंसिंग

Published

on

geonome testing will be in madhya pradesh
Share Post:

राज्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), भोपाल में कोविड -19 के ओमाइक्रोन वेरिएंट की पुष्टि के लिए होल जीनोम सीक्वेंसिंग (डब्ल्यूजीएस) 5 दिनों के भीतर शुरू होने जा रहा है। जीनोम सीक्वेंसिंग शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने एम्स को फंड मंजूर कर दिया है।

मध्य प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में 10 जीनोम सीक्वेंसिंग मशीनें लगेंगी। केंद्र सरकार एक सप्ताह के भीतर पांच मशीनें राज्य को भेजेगी, जबकि यहां की सरकार इतनी ही संख्या में मशीनें खरीदने जा रही है।

मध्य प्रदेश में होगी सम्पुर्ण जीनोम टेस्टिंग- सारंग

मध्य प्रदेश में शुरू होगी जीनोम टेस्टिंग

डीएमई मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, “हमने एम्स में ओमिक्रॉन की पुष्टि के लिए जीनोम अनुक्रमण शुरू करने के लिए फंड को मंजूरी दे दी है। इसके अलावा, केंद्र द्वारा भेजी जाने वाली पांच जीनोम सीक्वेंसिंग मशीनें एक सप्ताह के भीतर पांच मेडिकल कॉलेजों में स्थापित कर दी जाएंगी। राज्य सरकार अपने दम पर पांच और मशीनें खरीद रही है और उन्हें भी मेडिकल कॉलेजों में लगाया जाएगा। इससे प्रदेश में 10 जीनोम सीक्वेंसिंग मशीनें लगेंगी। उनके इंस्टालेशन से स्वास्थ्य विभाग को कोविड-19 रोगियों में ओमाइक्रोन की स्थिति के बारे में परिणाम प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

ये भी पढ़े – मध्य प्रदेश में भी शुरू होगी ये अनोखी परियोजना

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.