Connect with us

Sports

अंशु मलिक ने जीता रजत पदक, सरिता ने किया कांस्य पर कब्जा

Published

on

  • अंशु मलिक ने रचा इतिहास
  • अंशु ने जीता रजत पदक
  • सरिता ने 59 किग्रा में जीता कांस्य

हरियाणा की अंशु मलिक गुरुवार यानि 7 अक्टूबर को विश्व चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला हार गई और उन्हें रजत पदक के साथ ही संतोष करना पड़ा। वह इस चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहली भारतीय महिला पहलवान बन गईं। 19 वर्ष की अंशु इतिहास रचने में सफल रही।

Advertisement

इससे पहले भारत की 4 महिला पहलवानों ने विश्व चैंपियनशिप में पदक जीते हैं। लेकिन सभी को कांस्य पदक मिले हैं। रजत पदक किसी ने भी नहीं जीता है। गीता फोगाट ने 2012 में, बबीता फोगाट ने 2012 में, पूजा ढांडा ने 2018 और विनेश फोगाट ने 2019 में कांस्य पदक अपने नाम किया था।

अंशु विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाली छठी भारतीय भी हैं। उनसे पहले बिशंबर सिंह (1967), सुशील कुमार (2010), अमित दहिया (2013), बजरंग पूनिया (2018) और दीपक पूनिया (2019) फाइनल में पहुंचे थे। इनमें सुशील ही स्वर्ण पदक जीत पाए थे।

भारत की महिला पहलवान सरिता मोर ने गुरुवार को वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता है। सरिता मोर ने स्वीडन की पहलवान सारा लिंडबोर्ग को 8-2 से हराकर 59 किलोग्राम में कांस्य पदक अपने नाम किया है। सरिता विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली छठी भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं।

Advertisement
Share Post:
Advertisement

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel. Website Design & Developed By Shreeji Infotek