Connect with us

National

केन्द्र ने बढ़ाई बीएसएफ की शक्तियां, पंजाब और बंगाल ने जताया असंतोष

Published

on

Share Post:

बीएसएफ के अधिकारी अब पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को साझा करने वाले तीन नए राज्यों के सीमा से 50 किमी अंदर तक कही भी कीसी की भी तलाशी ले सकेंगे। गृह मंत्रालय (एमएचए) का कहना है कि सीमा पार से हाल ही में ड्रोन गिराए जाने ने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में इस विस्तार को प्रेरित किया है।

केन्द्र सरकार ने बढ़ाई बीएसएफ की शक्तियां

बता दें कि, केंद्र ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाया है। केन्द्र सरकार ने बीएसएफ के अधिकारियों को पंजाब, पश्चिम बंगाल, असम के सीमावर्ती राज्यों के अंदर की सीमाओं से 50 किमी की सीमा तक गिरफ्तारी, तलाशी और जब्ती की शक्तियां देने के लिए अधिसूचना जारी की है। पहले बीएसएफ के पास इन राज्यो में सीमा से 15 किमी तक गिरफ्तारी, तलाशी और जब्ती की शक्तियां थी।

Advertisement

केन्द्र के फैसले से राज्यों में छिड़ी बहस

Advertisement

केन्द्र के इस कदम से राज्य की स्वायत्तता पर बहस छिड़ गयी है। पंजाब के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर के इस कदम पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। ट्वीट मे चरणजीत ने कहा “मैं अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से लगे 50 किलोमीटर के दायरे में बीएसएफ को अतिरिक्त अधिकार देने के सरकार के एकतरफा फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जो संघीय राष्ट्र व्यवस्था पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं।”

पश्चिम बंगाल में टिएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा “TMC इस फैसले का कड़ा विरोध करती हैं। यह राज्य के अधिकारों का हनन है। राज्य सरकार को बताए बिना बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने की अचानक क्या जरूरत थी?”

 

Advertisement

वहीं, भाजपा शासित असम ने केंन्द्र के फैसले का समर्थन किया है। राज्य के मुख्यमंत्री हेमंता बिस्वा सरमा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि देश के गृह मंत्री अमित शाह का यह कदम स्वागत योग्य है। इससे राज्य गैरकानूनी घुसपैठ और तस्करी पर रोक लगेगी।

 

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.