Connect with us

Madhya Pradesh

कांग्रेस का मोदी सरकार पर कड़ा प्रहार, कहा- ‘मैं चाहे ये करूं, मैं चाहे वो करूं मेरी मर्जी’ के तहत सरकार कर रही काम

Published

on

Share Post:
  • केंद्र सरकार ने वापस लिए तीन कृषि कानून
  • कांग्रेस ने इस पर सियासी रंग देना किया शुरू
  • उमंग सिंघार ने भी केंद्र सरकार पर साधा निशाना

 

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून की वापसी को लेकर कांग्रेस ने सियासी रंग देना शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश के पूर्व वित्त मंत्री तरुण भनोट और उमंग सिंघार ने जबलपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ‘मैं चाहे ये करूं, मैं चाहे वो करूं मेरी मर्जी’ के तहत काम करती आ रही है। यही वजह है कि जब ये कृषि कानून मोदी सरकार बना रही थी। तब कानून के संबंध में किसानों से ना कोई बात हुई और ना ही उन्हें विश्वास में लिया गया। पहले से पता था कि ये काले कानून हैं फिर भी इन्हें बनाकर लागू कर दिया गया। इसके खिलाफ जब विरोध शुरू हुआ तो अब तक सैंकड़ों किसानों की जान इस आंदोलन के दौरान चली गई।

‘केंद्र सरकार में कोई संवेदना नहीं’

कांग्रेस नेता तरुण भनोट ने आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार के मंत्री की गाड़ी से किसानों को कुचल दिया गया। इसके बावजूद केंद्र सरकार ने तब इन कृषि कानूनों पर कोई फैसला नहीं लिया। उनका कहना है कि केंद्र सरकार में कोई संवेदना ही नहीं है। मध्य प्रदेश और देश में हुए उपचुनाव के परिणामों से सरकार को ये बात समझ आ गई कि देश की जनता उनके साथ नहीं है। केंद्र सरकार ने कृषि कानून तो वापस ले लिए हैं, लेकिन किसानों के लिए MSP पर कोई बात नहीं की।

Advertisement

चुनाव के डर से लिया फैसला

इसके साथ ही पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने भी कृषि कानूनों को वापस लेने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। सिंघार का कहना है सरकार ने कानून तो वापस ले लिए हैं। लेकिन एमएसपी पर कोई गारंटी नहीं दी। कृषि कानून केवल इसलिए वापस लिए गए हैं क्योंकि मोदी सरकार को पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनाव में हारने का डर नजर आ रहा है। सिंगार ने आरोप लगाया कि सोची समझी राजनीति के तहत कृषि कानून वापस लिए गए हैं।

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.