Connect with us

International

डिफेंस एक्सपर्ट रवि चौधरी पेंटागन की पोस्ट के लिए चुने गए-अमेरिका

Published

on

Share Post:
  • रवि को पेंटागन की पोस्ट के लिए नॉमिनेट किया गया
  • जो बाइडेन ने रवि को नॉमिनेट किया
  • सी-17 के पायलट भी रह हैं चुके रवि चौधरी

 

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारतीय मूल के रवि चौधरी को पेंटागन की एक पोस्ट के लिए चुना है। पहले भी रवि चौधरी अमेरिकी एयरफोर्स के ऊंचे पदो पर काम कर चुके हैं। रवि अमेरिकी एयरफोर्स में एयरोस्पेस और डिफेंस एक्सप्रट के पद पर कार्यरत हैं। शुक्रवार को जारी किए गए बयान में व्हाइट हाउस ने इस बात की पुष्टि की है कि रवि को पेंटागन की पोस्ट के लिए नॉमिनेट किया गया है। रवि अमेरिका के वर्जिनिया के रहने वाले हैं और उनके साथ उनकी पत्नी और 2 बच्चे भी रहते हैं।

 

रवि को अमेरिकी एयरफोर्स में असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर इंस्टालेशन्स, एनर्जी और एनवॉयर्नमेंट की जिम्मेदारी सौंपी गई है। रवि को बाइडन और व्हाइट की तरफ से नॉमिनेट कर लिया गया है लेकिन रवि को पद मिलेगा या नहीं, इस पर अंतिम फैसला संसद ही करेगी। जब संसद इस पर आखिरी मोहर लगा देगी, उसके बाद ही रवि पेंटागन के इस पद की शपथ ग्रहण कर पाएंगे।

Advertisement

एनवॉयर्नमेंट से जुड़ी जिम्मेदारी भी रवि की होगी

संसद से मंजूरी मिलते ही रवि अपना पद संभालेंगे। उन्हें अमेरिकी एयरफोर्स के तमाम इंस्टालेशन्स और स्ट्रैटेजी तैयार करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। इनमें दुनियाभर में फैले अमेरिकी एयरफोर्स के बेसेस को भी देखना होगा। जरूरत पड़ने पर नया इन्फ्रास्ट्रक्चर भी तैयार कर के देना होगा। साथ ही साथ एनर्जी और एनवॉयर्नमेंट से जुड़ी हुई रणनीति बनाने की जिम्मेदारी भी उन्हीं के कंधों पर दी जाएगी।

रवि के पास एडमिनिस्ट्रेशन का भी अच्छा खासा अनुभव है। वे यूएस डिपार्टमेंट ऑफ ट्रांसपोर्टेशन जैसे अहम विभाग में भी काम कर चुके हैं। इसके साथ ही उन्हें प्रोग्राम एंड इनोवेशन, कमर्शियल स्पेस और फेडरल एविएशन जैसे विभागों में भी काम करने का अनुभव है।

Advertisement

एविएशन इंजीनियर भी हैं रवि चौधरी

रवि चौधरी 1993 से लेकर 2015 तक अमेरिकी एयरफोर्स के सक्रिय सदस्य भी रह चुके हैं। इस पद पर रहते हुए रवि ने ऑपरेशनल और फंक्शनल दोनों डिवीजन्स को लीड किया है। सी-17 के पायलट भी रवि चौधरी रह चुके हैं। अफगानिस्तान और इराक के बीच हुई जंग में कई ऑपरेशन किए। इराक में तो उन्होंने काफी वक्त काम किया। वो एविएशन इंजीनियर भी हैं। यूएस एयरफोर्स को लेटेस्ट टेक्नोलॉजी देने के मामले में उनका अहम योगदान है। ओबामा के दौर में रवि प्रेसिडेंट एडवाइजरी कमीशन के सदस्य रह चुके हैं। रवि को उनकें अनुभव के चलते यह पद मिल रहा है, संसद की मुहर लगते ही वे उस पद भार को संभालेंगे।

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.