Connect with us

National

दिल्ली सरकार ने इस वजह से वापस ली बंदरों की नसबंदी की योजना

Published

on

Share Post:
  • तीन साल पहले शुरु हुई थी नसबंदी की योजना
  • बंदरों की  बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने के लिए बनाई थी योजना
  • योजना के तहत सफलता के नहीं मिले कोई सबूत

 

दिल्ली वन्यजीव विभाग ने राजधानी में बंदोरों की बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने के लिए तीन साल पहले दूरबीन पद्धति से उनकी नसबंदी करने की योजना को शुरु किया था। इस योजना को अब वापस ले लिया गया है। आधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि बंदरों के प्रजनन को नियंत्रित करने के लिए गर्भनिरोधक टीका देने की योजना भी तबतक रहेगी जब तक उसके प्रभाव और दीर्घकालिक असर के पुख्ता सबूत ना मिल जाए।

नगर निकाय कर्मियों को प्रशिक्षित करेंगे 

अधिकारियों ने बताया कि विभाग, भारतीय वन्यजीव संस्थान की मदद से बंदरों की गणना करने और देहरादून के संस्थान से बंदरों को पकड़ने वाले नगर निकाय कर्मियों को प्रशिक्षित करने के लिए प्रस्ताव को तैयार किया जा रहा है। आधिकारी ने बताया कि पिछले सप्ताह यह फैसला दिल्ली उच्च न्यायालय ने राजधानी दिल्ली में बंदरों की समस्या से निपटने के लिए गठित प्रर्वतन समिति की बैठक में लिया गया था। इस बैठक में डब्ल्यूआईआई के विशेषज्ञ भी शामिल हुए थे।

Advertisement

गर्भनिरोधक टीका लगाने का प्रस्ताव विचाराधीन नहीं 

उन्होंने बताया कि बैठक में बंदरों की नसबंदी को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई। इस योजना को अब वापल ले लिया गया है। इसके अलावा गर्भनिरोधक टीका लगाने का प्रस्ताव भी अभी विचाराधीन नहीं है। उन्होंने कहा कि हम यह नहीं जानते की जानवर पर इसका क्या असर हो सकता है। बड़े पैमाने पर इसके प्रभाव या सफलता को लेकर अभी सबूत का अभाव है।

दिल्ली में बंदरों की नसंबदी पर पशु अधिकार कार्यकर्ता लगातार विरोध कर रहे थे। हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश में आगरा की असफल कोशिश का हवाला भी दे रहे थे।

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.