Connect with us

National

अमेरिका दबाव के बावजूद भारत रूस से खरीदेगा S-400, रूस के राष्ट्रपति का 6 दिसंबर को भारत दौरा

Published

on

Share Post:
  • रूस के राष्ट्रपति का भारत दौरा
  • रूस से हो सकता है मिसाइल करार
  • अमेरिका ने दी है चेतावनी

 

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का 6 दिसंबर को भारत दौरा है। वह भारत 22वें भारत-रूस वार्षिक सम्मेलन में शामिल होने के लिए भारत आ रहे हैं। भारत-रूस ने एक मिसाइल सिस्टम को लेकर एक करार किया है। भारत रूस से वह मिसाइल खरीदना चाहता है। ऐसे में रूस के राष्ट्रपति का भारत दौरा उस रक्षा सौदे के लिए बेहद अहम माना जा रहा है। इस बीच अमेरिका ने भी भारत को रूस से रक्षा सौदा करने पर चेताया है। जिस पर भारत ने साफ कहा है कि वह किसी के भी दबाव में नही आएगा।

भारत ने साफ शब्दों मे दिया जवाब

रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में कहा कि रक्षा मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि रूस से हमने 5 अक्टूबर 2018 को  S-400 सिस्टम की डिलीवरी के लिए एक करार किया था। सरकार को रक्षा उपक्रमों की खरीद को प्रभावित करने वाले सभी घटनाक्रमों के बारे में जानकारी है।

Advertisement

रक्षा मंत्रालय ने क्या कहा?

रक्षा मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि सरकार, सशस्त्र बलों की सभी सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने की तैयारी के लिए संभावित खतरों, ऑपरेशनल और तकनीकी पहलुओं के आधार पर संप्रभुता से निर्णय लेती है। डिलीवरी करार की समय सीमा के हिसाब से हो रही है।

S-400 मिसाइल सिस्टम से भारत होगा मजबूत

Advertisement

रक्षा राज्य मंत्री ने ये भी कहा है कि S-400 मिसाइल सिस्टम के भारतीय वायुसेना में शामिल होने से एयर डिफेंस सिस्टम में उल्लेखनीय बढ़ोतरी होगी।

गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के भारत आने से पहले भारत और रूस के बीच रक्षा, स्पेस, व्यापार, ऊर्जा और टेक्नोलॉजी के समझौतों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। 6 दिसंबर को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भारत पहुंचेंगे और वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे।

Advertisement
Share Post:
Continue Reading
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.