Connect with us

Chhattisgarh

बाघों की घटती संख्या पर हाईकोर्ट ने वन विभाग से मांगा जवाब

Published

on

Share Post:
  • वन्य जीव प्रेमी ने दायर की थी जनहित याचिका
  • वन मंत्री ने कहा सवाल देखकर तय होगा अगला कदम
  • 4 साल में बाघों की संख्या 46 से घटकर 19 हो गई

 

छत्तीसगढ़ में बाघों की घटती संख्या पर हाईकोर्ट ने वन विभाग से जवाब मांगा है | वन्य जीव प्रेमी ने बाघों की घटती संख्या पर एक जनहित याचिका दायर की थी | इसी मामले में हाईकोर्ट का सख्त रवैया सामने आया है और वन मंत्रालय से जवाब तलब किया है | यहां  वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने कहा है कि पुराने आंकड़ों पर हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई है | हाईकोर्ट ने वन विभाग से क्या जवाब मांगा है इसका अध्ययन करके अगला कदम उठाया जायेगा |

4 साल में 46 से घटकर 19 हो गई बाघों की संख्या

छत्तीसगढ़ में बाघों की संख्या लगातार घट रही है। पिछले 4 साल में बाघों की संख्या 46 से घटकर 19 हो गई है। इसके बाद भी वन विभाग को इसकी चिंता नहीं है। 12 साल में आज तक राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है। इस मामले को लेकर दायर जनहित याचिका पर हाईकोर्ट ने केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय, राज्य शासन के वन विभाग के सचिव, प्रधान मुख्य वन संरक्षक सहित अन्य को नोटिस जारी कर 8 सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है। रायपुर के वन्यप्राणी प्रेमी व समाज सेवी नितिन सिंघवी ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। इसमें उन्होंने बताया है कि राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण ने वर्ष 2013 में गाइडलाइंस जारी की थी | जिसके तहत रैपिड रिस्पांस टीम का गठन किया जाना था। तब सभी वनमंडलों को बजट जारी कर विशेष बंदूक, दवाइयां वगैरह खरीदने के आदेश दिए गए थे। इसके तहत सामग्रियों की खरीदी भी की  गई थी। लेकिन, अचानकमार टाइगर रिजर्व और उदंती सीतानाडी टाइगर रिजर्व में रैपिड रिस्पांस टीम अस्तित्व में ही नहीं है।

Advertisement

 

Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.