Connect with us

International

भारत और रुस की बैठक में विदेश मंत्री ने कहा- अफगानिस्तान की स्थिति का हुआ गहरा असर

Published

on

Share Post:
  • रूस के साथ भारत की हुई 2+2 की अहम बैठक
  • विदेश मंत्री ने उठाया आतंकवाद और कट्टरवाद का मुद्दा
  • इस बैठक में कई अहम समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

 

रूस के साथ 2+2 की मीटिंग के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आतंकवाद और कट्टरवाद का मुद्दा उठाया। रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री स्तरीय बैठक के दौरान एस.जयशंकर ने कहा कि आतंकवाद की लंबे समय से चली आ रही चुनौतियां और हिंसक कट्टरवाद नई चुनौतियों में शामिल है। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि अफगानिस्तान की स्थिति का मध्य एशिया के साथ-साथ कई देशों पर व्यापक असर पड़ा है। समुद्री सुरक्षा हमारे बीच साझा चिंता का एक अन्य विषय है।

राजनाथ सिंह ने की रूस के विदेश मंत्री से बातचीत

इससे पहले व्लादिमीर पुतिन के भारत दौरे से पहले रूस के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु के साथ राजनाथ सिंह ने मुलाकात की। रूस के रक्षा मंत्री के साथ बातचीत करने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत और रूस के बीच संबंध बहुपक्षवाद, वैश्विक शांति, समद्धि और आपसी समझ और विश्वास में समान रुचि के आधार पर समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं।

Advertisement

राजनाथ सिंह ने शातिं और स्थिरता की जताई उम्मीद

उभरती भू-राजनीतिक परिस्थितियों में आज वार्षिक भारत-रूस शिखर सम्मेलन एक बार फिर हमारे देशों के विशेष रणनीतिक साझेदारी के अहम महत्व की पुष्टि करता है। राजनाथ सिंह ने कहा, रक्षा सहयोग हमारी साझेदारी के सबसे महत्वपूर्ण स्तंभों में से एक है। मैं आशा करता हूं कि भारत और रूस साझेदारी पूरे क्षेत्र में शांति लाएगी और क्षेत्र में स्थिरता को बढ़ावा देगी। इसी बीच दोनों देशों के बीच महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर भी हुए।

Advertisement
Share Post:
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.