Connect with us

International

ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों पर भारत ने लगाया प्रतिबंध, 10 दिन होना पड़ेगा आइसोलेट

Published

on

  • भारतीय आदेश पर ब्रिटेन ने दी प्रतिक्रिया
  • ब्रिटेन ने भी कोवीशील्ड को लेकर फंसा रखा है
  • भारत ने पिछले हफ्ते दी जवाबी कार्रवाई

 

 

भारतीय यात्रियों पर ब्रिटेन में जारी कोरोना प्रतिबंध का भारत ने भी करारा जवाब दिया है। अब ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को भारत में 10 दिन आइसोलेट होना पड़ेगा। सरकार ने शुक्रवार यानि 1 अक्टूबर को यह आदेश जारी किया है। कि इसके अलावा UK के लोगों को RTPCR टेस्ट भी कराना होगा।

आदेश आगामी 4 अक्टूबर से होंगे लागू

आदेश के मुताबिक यात्री को वैक्सीन के डोज लगे होने के बाद भी टेस्ट कराना ही होगा। ट्रैवलर्स को यात्रा शुरू करने से 72 घंटे पहले तक और आगमन के 8 दिन बाद RTPCR टेस्ट कराना जरूरी होगा। यह आदेश आगामी 4 अक्टूबर से लागू होगा। आदेश जारी होने के कुछ समय बाद ही ब्रिटेन ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। भारत में ब्रिटिश हाई कमीशन के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटेन सरकार भारत में लगी वैक्सीन को मान्यता देने के तकनीकी पहलुओं पर भारत सरकार से बात कर रही है।

भारत ने ब्रिटेन पर जताई नाराजगी

Advertisement

ब्रिटेन ने भी कोवीशील्ड को मान्यता तो दे दी, लेकिन भारतीयों को कुछ शर्तों के साथ ही ब्रिटेन में आने की इजाजत दी है । इस पर भारत ने नाराजगी भी जताई थी। बनाए गए नए नियमों के अनुसार, कोवीशील्ड वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके भारतीयों को ब्रिटेन पहुंचने पर अब भी 10 दिन क्वारैंटाइन रहना पड़ेगा और बाद में टेस्ट भी कराने होंगे।

भारतीय नागरिकों ने ब्रिटेन के इस निर्णय को बेबुनियाद बताया था। इसके जवाब में ब्रिटेन ने कहा था कि उन्हें कोवीशील्ड लगवाने वालों से कोई परेशानी नहीं है। लेकिन वे भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट पर भरोसा नहीं कर सकते हैं। 24 सितंबर को भारत सरकार ने कहा था कि हम ब्रिटेन को उसी के अंदाज में जवाब दे सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया था कि दोनों देशों की सरकारें आपस में बात कर रही हैं। उन्होंने भारतीय यात्रियों पर लगे प्रतिबंधों को भेदभावपूर्ण बताते हुए कहा कि ये बेबुनियाद हैं।

Share Post:
Advertisement

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel. Website Design & Developed By Shreeji Infotek