H

MP में आज सुबह 8:45 बजे होगा शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार

By: Ramakant Shukla | Created At: 26 August 2023 12:54 AM


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जबलपुर से विलंब से लौटने के कारण शुक्रवार को कैबिनेट विस्तार नहीं हो पाया। अब पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन, राजेंद्र शुक्ल और राहुल सिंह लोधी को शनिवार सुबह पौने नौ बजे मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। इनमें लोधी को राज्यमंत्री बनाया जाएगा। बाकी दोनों को कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई जाएगी। विंध्य, महाकौशल और बुदेलखंड अंचल से एक-एक मंत्री बनाकर भाजपा ने जातिगत और भौगोलिक समीकरण साधने का प्रयास किया है।

bannerAds Img
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जबलपुर से विलंब से लौटने के कारण शुक्रवार को कैबिनेट विस्तार नहीं हो पाया। अब पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन, राजेंद्र शुक्ल और राहुल सिंह लोधी को शनिवार सुबह पौने नौ बजे मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। इनमें लोधी को राज्यमंत्री बनाया जाएगा। बाकी दोनों को कैबिनेट मंत्री की शपथ दिलाई जाएगी। विंध्य, महाकौशल और बुदेलखंड अंचल से एक-एक मंत्री बनाकर भाजपा ने जातिगत और भौगोलिक समीकरण साधने का प्रयास किया है।

सुबह 8.45 बजे शपथ समारोह

वर्तमान में शिवराज कैबिनेट में 31 सदस्य हैं। नियमानुसार अभी चार मंत्री बनाए जा सकते हैं। चौथे स्थान को लेकर पार्टी नेताओं का सोच किसी आदिवासी या अनुसूचित जाति के विधायक को शपथ दिलाने का था, लेकिन किसी एक नाम पर सहमति नहीं बनी।

राजेंद्र शुक्ल,गौरीशंकर बिसेन और राहुल लोधी लेंगे मंत्री पद की शपथ

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को छिंदवाड़ा के जामसावली गए थे और रात्रि विश्राम बैतूल के सारणी में किया। शुक्रवार को उन्हें जबलपुर से लौटते हुए नौ बज गए। इसके कारण शपथ ग्रहण कार्यक्रम का समय शनिवार सुबह पौने नौ बजे के लिए आगे बढ़ा दिया गया। मंत्रिमंडल में विंध्य क्षेत्र से राजेंद्र शुक्ल, महाकोशल के बालाघाट से गौरीशंकर बिसेन और बुदेलखंड से राहुल सिंह लोधी को राज्यपाल मंगुभाई पटेल एक सादे समारोह में शपथ दिलाएंगे। राहुल पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के भतीजे हैं और खरगापुर से विधायक हैं। पहली बार के विधायक होने से उनके नाम पर कुछ दिग्गज असहमत थे, लेकिन उमा भारती के दबाव में राहुल का नाम ही तय किया गया। ग्वालियर से लाल सिंह आर्य का नाम चर्चा में आया था, लेकिन उनके नाम पर भी सहमति नहीं बनी। बार-बार कैबिनेट विस्तार टलने से नेताओं के बीच भी सरकार की किरकिरी हो रही थी। यही वजह थी कि तोमर शुक्रवार को ट्रेन से रवाना हो रहे थे, तभी मुख्यमंत्री का फ़ोन आया और उन्होंने आश्वासन दिया कि सुबह शपथ कार्यक्रम होगा। तोमर को कल ग्वालियर में एक कार्यक्रम में शामिल होना है, इसलिए उन्हें विशेष विमान से साढ़े नौ बजे ग्वालियर भेजा जाएगा।