H

Rajasthan News: विधानसभा उप चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेस, खींवसर और चौरासी समेत 5 सीटों पर कमेटियां बनाई, इन्हें दी गई जिम्मेदारी

By: payal trivedi | Created At: 24 June 2024 06:45 AM


राजस्थान में पांच विधायकों के सांसद बनने के बाद खाली हुई विधानसभा सीटों पर उप चुनाव होंगे। इनमें से दो विधानसभा सीटों पर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन करने वाली आरएलपी और बीएपी के विधायक थे।

bannerAds Img
Jaipur: राजस्थान में पांच विधायकों के सांसद बनने के बाद खाली हुई विधानसभा सीटों पर उप चुनाव होंगे। इनमें से दो विधानसभा सीटों पर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन करने वाली आरएलपी और बीएपी के विधायक थे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) ने पांचों सीटों पर उप चुनाव संबंधी गतिविधियों को लेकर कमेटियों का गठन कर दिया है। जिन तीन सीटों पर कांग्रेस के विधायक थे। वहां मौजूदा सांसद को कमेटी में शामिल किया गया है। इसके अलावा जिन दो सीटों पर आरएलपी और बीएपी के विधायक थे। वहां भी कांग्रेस ने कमेटी का गठन करके अकेले चुनाव लड़ने के संकेत दे दिए हैं। दरअसल, खींवसर विधानसभा से हनुमान बेनीवाल और चौरासी विधानसभा से राजकुमार रोत विधायक थे। इनके सांसद बनने के बाद यह सीटें खाली हो गई है। कांग्रेस ने प्रदेश की पांच सीटों पर होने वाले उप चुनाव के लिए कमेटी का गठन कर दिया हैं

इन सीटों पर मौजूदा सांसद को कमेटी मे किया शामिल

- झुंझुनूं सीट के लिए गठित कमेटी में सांसद बृजेन्द्र ओला, प्रभारी महासचिव राम सिंह कस्वां, जिलाध्यक्ष दिनेश सूंडा और विधायक मनोज मेघवाल को शामिल किया गया है।

- दौसा सीट के लिए सांसद मुरारीलाल मीणा, महासचिव पुष्पेन्द्र भारद्वाज, जिलाध्यक्ष रामजीलाल ओड और विधायक रफीक खान को कमेटी में शामिल किया है।

- देवली-उनियारा सीट के लिए बनाई गई कमेटी में सांसद हरीश मीणा, प्रभारी महासचिव प्रशांत शर्मा, जिलाध्यक्ष हरी प्रसाद बैरवा और विधायक विकास चौधरी को शामिल किया गया है।

- विधानसभा चुनावों में यह तीनों सीटें कांग्रेस ने जीती थीं। इन तीनों सीटों पर जीते विधायक अब सांसद बन गए हैं। कांग्रेस ने मौजूदा सांसद को कमेटी में शामिल करके उन्हीं पर इन सीटों को फिर से जिताने का दारोमदार सौंप दिया हैं।

खींवसर और चौरासी के लिए भी बनाई कमेटी

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने नागौर और बांसवाड़ा सीट गठबंधन में छोड़ दी थी। नागौर में कांग्रेस ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) और बांसवाड़ा में भारतीय आदिवासी पार्टी (बीएपी) से गठबंधन किया था।

- खींवसर सीट पर कांग्रेस ने कमेटी का गठन करके उसमें जिलाध्यक्ष जाकिर हुसैन गैसावत, विधायक डूंगरराम गेदर, प्रदेश सेवादल के मुख्य संगठक हेम सिंह शेखावत और एनएसयूआई के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अभिषेक चौधरी को शामिल किया है।

- चौरासी सीट के लिए गठित कमेटी में उपाध्यक्ष रतन देवासी, जिलाध्यक्ष वल्लभराम पाटीदार, विधायक पुष्करलाल डांगी और पूर्व विधायक रामलाल मीणा को शामिल किया गया है।

हनुमान बेनीवाल अकेले चुनाव लड़ने का कर चुके हैं ऐलान

खींवसर विधानसभा सीट पर होने वाले उप चुनाव में आरएलपी पहले ही अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी है। आरएलपी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद हनुमान बेनीवाल पहले ही साफ कर चुके हैं कि खींवसर विधानसभा में होने वाले उप चुनाव में आरएलपी पार्टी का प्रत्याशी खड़ा होगा। हनुमान बेनीवाल ने साफ कर दिया है कि उनका गठबंधन केंद्र में हैं। राज्य में कोई गठबंधन नहीं हैं। अब कांग्रेस ने भी खींवसर उप चुनाव के लिए कमेटी बना दी है।