H

कोटा में नहीं थम रहा मौतों का सिलसिला, JEE की तैयारी कर रहे छात्र ने लगाई फांसी

By: Sanjay Purohit | Created At: 04 July 2024 11:05 AM


राजस्थान की कोचिंग सिटी कहे जाने वाले कोटा में एक और कोचिंग छात्र ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। क्या कोटा कोचिंग सिटी की जगह सुसाइड सिटी बनता जा रहा हैं?

bannerAds Img
राजस्थान की कोचिंग सिटी कहे जाने वाले कोटा में एक और कोचिंग छात्र ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मूल रूप से बिहार के नालंदा निवासी संदीप 11वीं की पढ़ाई करने के अलावा जेईई की प्रवेश परीक्षा की भी पिछले 2 साल से पीजी होस्टल में रहकर तैयारी कर रहा था। उसका एक भाई संजीत भी कोटा में ही कोचिंग ले रहा था, लेकिन वह अलग जगह दादाबाड़ी में रहता था।

साथी ने रोशनदान से झांका तो पंखे से लटका नजर आया

जानकारी के अनुसार संदीप कल रात मेस से खाना खाकर अपने कमरे में चला गया और उसके बाद वह वापस नहीं निकला। आज सुबह दरवाजा खटखटाने पर भी नहीं खोलने के बाद उसके साथी छात्र ने रोशनदान से झांका तो उसे पंखे से लटका हुआ नजर आया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा खोलकर भीतर प्रवेश किया और शव को नीचे उतरने के बाद कोटा मेड़किल कॉलेज के संलग्न चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया।

परिजन के आने के बाद पोस्टमाटर्म करवाया जायेगा

मृतक छात्र के परिजन आने के बाद शव का पोस्टमाटर्म करवाया जायेगा। कोचिंग छात्र संजीव की आत्महत्या के मामले में एक बार फिर पीजी होस्टल प्रबंधन की लापरवाही सामने आयी है। जिस कमरे में संजीव रह रहा था, उसकी छत पर लगे पंखे के साथ एंटी हैगिंग डिवाइस नहीं लगा हुआ था जबकि कोटा जिला प्रशासन पहले ही कई बार होस्टल प्रबंधन को एंटी हैगिंग डिवाइस लगाने के सख्त निर्देश दे चुका है जिनकी कई होस्टल संचालक लगातार उपेक्षा कर रहे हैं। पुलिस के अनुसार कोचिंग छात्र के कमरे से मृत्यु पूर्व लिखा पत्र बरामद नहीं हुआ है, इसलिये आत्महत्या करने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।