H

PM Modi ने राज्यसभा में पूर्व प्रधानमंत्री को किया याद, बोले- 'राज्यसभा में पूर्व पीएम 'मनमोहन सिंह ने पेश की थी मिसाल'

By: payal trivedi | Created At: 08 February 2024 12:17 PM


संसद के बजट सत्र में केंद्र सरकार यूपीए राज के 10 साल के खिलाफ 'श्वेत पत्र' लाने वाली है। इसके जवाब में अब कांग्रेस पार्टी भाजपा सरकार के 10 साल के शासन के खिलाफ 'ब्लैक पेपर' लाने की तैयारी में है।

banner
New Delhi: संसद के बजट सत्र में केंद्र सरकार यूपीए राज के 10 साल (PM Modi) के खिलाफ 'श्वेत पत्र' लाने वाली है। इसके जवाब में अब कांग्रेस पार्टी भाजपा सरकार के 10 साल के शासन के खिलाफ 'ब्लैक पेपर' लाने की तैयारी में है।

पीएम मोदी ने मनमोहन सिंह को लेकर कही ये बात

पीएम मोदी ने आज राज्यसभा में सांसदों के विदाई समारोह को संबोधित करते हुए पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को याद किया। मोदी ने कहा कि मैं विशेष रूप से से मनमोहन सिंह जी को स्मरण करना चाहूंगा। 6 बार वो इस सदन को अपने मूल्यवान विचारों से नेता के रूप में और प्रतिपक्ष के नेता के रूप में भी बहुत बड़ा योगदान दे चुके हैं। पीएम ने कहा कि मुझे याद है कि पहले के सदन में, मतदान के दौरान जब उन्हें पता था कि सत्ता पक्ष चुनाव जीतेगा, तब भी मनमोहन सिंह अपनी व्हीलचेयर पर आए और अपना वोट डाला। यह उनका देश के प्रति कर्तव्य पूरा करने का उदाहरण था और एक मिसाल है।

खरगे पेश कर सकते हैं 'ब्लैक पेपर'

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस का 'ब्लैक पेपर' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के 10 साल के शासन पर होगा। जानकारी के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ये 'ब्लैक पेपर' पेश कर सकते हैं।

बजट में सरकार ने की थी श्वेत पत्र लाने की घोषणा

केंद्र सरकार ने 1 फरवरी को पेश किए गए केंद्रीय बजट (PM Modi) में घोषणा की थी कि वह कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के 10 वर्षों के आर्थिक प्रदर्शन की तुलना में भाजपा के नेतृत्व वाली 10 वर्षों की सरकार के काम को लेकर एक 'श्वेत पत्र' लाएगी।

संसद में हंगामे के आसार

संसद में भाजपा और कांग्रेस में आज फिर वार पलटवार की राजनीति देखने को मिल सकती है। इसके चलते संसद में फिर से हंगामे के आसार है।

सीतारमण ने कांग्रेस पर कसा था तंज

बता दें कि संसद में अंतरिम बजट 2024-25 पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (PM Modi) ने कहा था कि 2014 में सत्ता संभालने वाली मोदी सरकार ने उन वर्षों के संकट को पार कर लिया है, जहां कांग्रेस छोड़ कर गई थी। उन्होंने कहा कि अब अर्थव्यवस्था तेजी से विकास करने के पथ पर मजबूती से खड़ी है। उन्होंने घोषणा की थी कि सरकार सदन के पटल पर एक श्वेत पत्र रखेगी, तो यह दिखाएगी कि हम 2014 तक कहां थे और अब कहां हैं, इसका एकमात्र उद्देश्य उन वर्षों के कुप्रबंधन को दिखाना है।