H

Rajasthan Assembly Election का ADR रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, गहलोत का खर्चा पायलट से डबल...कैंपेन पर लाखों किए खर्च

By: payal trivedi | Created At: 05 February 2024 12:21 PM


राजस्थान विधानसभा चुनाव में विधायकों ने कितना पैसा खर्च किया, इसका हिसाब-किताब चुनाव आयोग को बताया है।

banner
Jaipur: राजस्थान विधानसभा चुनाव में विधायकों (Rajasthan Assembly Election) ने कितना पैसा खर्च किया, इसका हिसाब-किताब चुनाव आयोग को बताया है। अपने प्रचार में हर विधायक ने औसतन 22.53 लाख रुपए खर्च किए हैं। इस मामले में बीजेपी के विधायक कांग्रेस से आगे रहे हैं। सीएम भजनलाल शर्मा ने वसुंधरा राजे से लगभग डबल पैसा खर्च किया। वहीं, कांग्रेस में अशोक गहलोत का खर्च सचिन पायलट से डबल है। मंत्रियों में सबसे ज्यादा पैसे हीरालाल नागर ने खर्च किए और सबसे कम किरोड़ी लाल मीणा ने। एडीआर की रिपोर्ट में विधायकों के चुनाव खर्च को लेकर कई रोचक फैक्ट्स सामने आए हैं। विधानसभा चुनाव में इस बार सबसे नया ट्रेंड सोशल मीडिया पर खर्च का देखने को मिला। पहली बार 200 में से 32 विधायकों ने सोशल मीडिया पर कैंपेन में लाखों रुपए खर्च करने का ब्योरा चुनाव आयोग को दिया है।

चुनाव आयोग ने इतनी रखी थी खर्च सीमा

चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव में 40 लाख रुपए की खर्च सीमा तय कर रखी है। ऐसे में सीएम भजनलाल शर्मा ने विधानसभा चुनावों में 32.51 लाख रुपए खर्च करना बताया है। पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने चुनाव प्रचार में 26 लाख रुपए खर्च किए हैं। वसुंधरा राजे ने 17.52 लाख, जबकि नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली ने 30.96 लाख रुपए खर्च किए हैं। पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने 13.03 लाख रुपए में चुनाव लड़ा है। बड़े नेताओं ने पार्टी से चुनाव में पैसा नहीं लिया। आरएलपी प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने 17.30 लाख रुपए चुनाव खर्च घोषित किया है।

मंत्रियों में हीरालाल नागर ने सबसे ज्यादा रूपए किए खर्च

डिप्टी सीएम दीया कुमारी ने अपना (Rajasthan Assembly Election) चुनावी खर्च 16.36 लाख और डॉ प्रेमचंद बैरवा ने 14.97 लाख रुपए दिखाया है। जबकि कई मंत्रियों ने इससे ज्यादा पैसे खर्च किए हैं। मंत्रियों में हीरालाल नागर ने सबसे ज्यादा 37 लाख रुपए का चुनाव खर्च दिखाया है। सबसे कम चुनाव खर्च कृषि मंत्री डॉ. किरोड़ी लाल मीणा ने घोषित किया है। किरोड़ी लाल मीणा ने केवल 9.75 लाख रुपए खर्च किए हैं।

55 विधायकों ने रैली और जुलूस में खर्च नहीं किया पैसा

199 विधायकों ने बिना स्टार प्रचारकों, स्टार प्रचारकों के साथ रैलियों, जुलूस और बैठकों में पैसा खर्च करने का ब्योरा दिया है। इनमें से 144 विधायकों ने घोषणा की है कि उन्होंने स्टार प्रचारकों के साथ रैली, जुलूस और बैठक करने पर पैसा खर्च किया है। इसमें पार्टी के खर्च के अलावा खुद का खर्च शामिल है। वहीं, 55 विधायक ऐसे हैं, जिन्होंने रैली और जुलूस पर कोई पैसा खर्च नहीं किया।

78 प्रतिशत अपने जेह से किया खर्च

विधायकों ने चुनाव खर्च का 9 प्रतिशत पार्टी फंड और 78 प्रतिशत अपनी जेब से किया। 13 प्रतिशत दूसरे स्रोतों से मिला है। 158 विधायकों ने घोषणा की है कि उन्हें उनकी पार्टी से चंदा मिला है। वहीं, 41 विधायकों ने घोषणा की है कि उन्हें पार्टी से कोई चंदा नहीं मिला है।

50 फिसदी विधायकों ने लिया दान

50 फीसदी विधायकों ने चुनाव आयोग को दिए गए खर्च के ब्योरे में यह घोषणा की है कि उन्होंने किसी फर्म, कंपनी, व्यक्ति से चंदा, गिफ्ट और दान लिया है। दूसरी तरफ 100 विधायक ऐसे हैं, जिन्होंने किसी भी कंपनी या व्यक्ति से चंदा या गिफ्ट नहीं लेने का दावा किया है।

सबसे ज्यादा खर्च रैलियों और बैठक में

विधायकों ने चुनाव के दौरान सबसे ज्यादा खर्च रैलियों (Rajasthan Assembly Election) और बैठकों में किया है। बिना स्टार प्रचारकों के रैलियों, सभाओं और नुक्कड़ बैठकों पर औसतन हर विधायक ने 8 लाख रुपए खर्च किए। पार्टीवार देखें तो कांग्रेस विधायकों ने औसतन 7.59 लाख, बीजेपी के हर विधायक ने 6.41 लाख रुपए, निर्दलीयों ने 8.81 लाख रुपए, बीएपी ने 8.91 लाख, आरएलपी ने 10.43 लाख, आरएलडी ने 2.51 लाख, बीएसपी ने 2.07 लाख औसत खर्च किए हैं।