H

Rajasthan News: केंद्र से पहले 10 जुलाई को आएगा राजस्थान का बजट, स्पीकर तय करेंगे समय

By: payal trivedi | Created At: 03 July 2024 04:27 AM


भजनलाल सरकार का पहला फुल बजट 10 जुलाई को पेश होगा। इस बार सरकार ने 30 जुलाई तक के लिए लेखानुदान लिया था। विधानसभा में मंगलवार को स्पीकर वासुदेव देवनानी की अध्यक्षता में हुई कार्य सलाहकार समिति (BAC) की बैठक में सदन का 10 जुलाई तक का कामकाज तय किया गया है।

bannerAds Img
Jaipur: भजनलाल सरकार का पहला फुल बजट 10 जुलाई को पेश होगा। इस बार सरकार ने 30 जुलाई तक के लिए लेखानुदान लिया था। विधानसभा में मंगलवार को स्पीकर वासुदेव देवनानी की अध्यक्षता में हुई कार्य सलाहकार समिति (BAC) की बैठक में सदन का 10 जुलाई तक का कामकाज तय किया गया है। इस बार राजस्थान का बजट केंद्र से पहले आ रहा है। विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन 3 जुलाई को बागीदौरा विधानसभा उपचुनाव में जीते हुए भारतीय आदिवासी पार्टी (बीएपी) विधायक जयकृष्ण पटेल को शपथ दिलाई जाएगी। इसके बाद बीएसी की रिपोर्ट सदन में रखने और फिर 12 दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित हो जाएगी। 4 जुलाई को प्रश्नकाल और शून्यकाल की कार्यवाही होगी। 5 से 9 जुलाई तक विधानसभा नहीं चलेगी, 10 को बजट पेश किया जाएगा। 10 जुलाई से आगे का कामकाज तय करने के लिए एक बार फिर बीएसी की बैठक होगी।

4 दिन बजट पर बहस, 16 को जवाब संभव

बजट पेश करने के बाद आगे के कामकाज पर फैसले के लिए एक बार फिर बीएसी की बैठक होगी। 4 दिन बजट पर बहस होगी। 11, 12 और 13 जुलाई को बजट पर बहस होगी। 16 जुलाई को बजट पर बहस के बाद सरकार की तरफ से जवाब दिया जाएगा, हालांकि इस पर बीएसी की बैठक में मंजूरी मिलना बाकी है।

विधानसभा में संसद की तर्ज पर दोपहर में लंच ब्रेक शुरू करने की तैयारी

विधानसभा में संसद की तर्ज पर अब लंच ब्रेक शुरू करने की तैयारी है। विधानसभा स्पीकर की अध्यक्षता में हुई सर्वदलीय बैठक में लंच ब्रेक पर सहमति बनी है। लंच ब्रेक के समय पर जल्द फैसला होने के आसार है। राजस्थान विधानसभा में अभी सुबह 11 बजे से लगातार शाम तक कार्यवाही चलती है, हंगामे से सदन स्थगित होने के अलावा लगातार सदन चलता है। लंच ब्रेक नहीं होता। सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस, बीजेपी सहित सभी दलों के विधायकों ने लंच ब्रेक शुरू करने की पैरवी की है।

स्पीकर तय करेंगे समय

लंच ब्रेक का समय शून्यकाल का कामकाज पूरा होने के बाद दोपहर में 1:30 से 2:30 या इसके आसपास सूटेबल टाइम पर किया जा सकता है, जिसे स्पीकर तय ​करेंगे। स्पीकर वासुदेव देवनानी ने बैठक में कहा कि लोकसभा की तर्ज पर राजस्थान विधान सभा में भी लंच ब्रेक का समय तय किया जा सकता है। इससे एक ही समय पर सभी विधायक भोजन कर सकेंगे, इसके बाद सभी एक साथ कार्यवाही में हिस्सा ले सकेंगे। नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली ने कहा कि सदन में लंच ब्रेक करने को लेकर सहमति बन गई है।