H

MP News: बढ़ते डॉग बाइट मामलों के चलते भोपाल मेयर ने शहरवासियों को कुत्तों से बचने की दी सलाह

By: TISHA GUPTA | Created At: 29 January 2024 01:12 PM


मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कुत्तों ने 15 दिन में दो मासूमों की जान ले ली है। जबकि कई लोगों को घायल कर दिया है। इन कुत्तों को पकड़वाकर नगर निगम की टीम नसबंदी भी करा रही है। ऐसे में इन सबके बीच महापौर मालती राय ने भोपालवासियों से अपील करते हुए कहा है कि नगर निगम कुत्तों को पकड़कर नसबंदी करवाता है, लेकिन उन्हें जंगल में नहीं छोड़ सकता है, इसलिए बच्चों को समझाएं कि आवारा कुत्तों से दूरी बनाकर चलें। वहीं मानव अधिकार आयोग के लेटर लिखे जाने के सवाल पर महापौर मालती राय ने कहा कि नगर निगम जल्द ही लेटर का जवाब देगा।

banner
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कुत्तों ने 15 दिन में दो मासूमों की जान ले ली है। जबकि कई लोगों को घायल कर दिया है। इन कुत्तों को पकड़वाकर नगर निगम की टीम नसबंदी भी करा रही है। ऐसे में इन सबके बीच महापौर मालती राय ने भोपालवासियों से अपील करते हुए कहा है कि नगर निगम कुत्तों को पकड़कर नसबंदी करवाता है, लेकिन उन्हें जंगल में नहीं छोड़ सकता है, इसलिए बच्चों को समझाएं कि आवारा कुत्तों से दूरी बनाकर चलें। वहीं मानव अधिकार आयोग के लेटर लिखे जाने के सवाल पर महापौर मालती राय ने कहा कि नगर निगम जल्द ही लेटर का जवाब देगा।

महापौर मालती राय ने भोपालवासियों से की अपील

  • बच्चों को समझाएं कि आवारा कुत्तों से दूरी बनाकर चलें।
  • जिन मादा कुत्ते के पास उनके बच्चें हो उनसे भी दूरी बनाकर रखें, वरना असुरक्षित महसूस होने पर वह काट सकती है।
  • अनावश्यक कुत्तों से छेड़छाड़ न करें, उनके ऊपर पत्थर न मारें और उन्हें परेशान न करें।
  • तेज आवाज के पटाखों का इस्तेमाल न करें।
  • कुत्ता आपके शेड या कार के नीचे बैठा है तो वह खुद को ठंड से बचाने के लिए बैठा है, उसे अनावश्यक नहीं भगाएं।
  • नि:शुल्क एंटीरेबिज टीका उपलब्ध है, पशु प्रेमी कुत्तों को लगवा सकते हैं।

लगातार आ रहीं डॉग बाइट्स की शिकायतें

वहीं पिछले हफ्ते में प्रतिदिन नगर निगम महापौर महिला हेल्पलाइन पर 100 से 150 लोग कुत्तों के काटने की शिकायत कर इन्हें पकड़ने की गुहार लगाई है। बीते मंगलवार को ही 100 से अधिक लोगों ने कॉल सेंटर पर शिकायत की। 16 से 23 जनवरी तक एक हफ्ते में 667 लोग महापौर महिला हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज कराई, जबकि इसमें सीएम हेल्प लाइन सहित अन्य कॉल सेंटर्स की शिकायत दर्ज नहीं है। सभी डाटा सम्मिलित कर लें तो यह प्रतिदिन 200 के पार पहुंच जाएगा।

Read More: एमपी में बदला हवा का रुख, दिन और रात के तापमान में रिकॉर्ड हुई बढ़ोतरी