H

लोकसभा चुनाव में नए चेहरों के साथ मैदान में उतरी कांग्रेस, 22 में से 10 प्रत्याशी पहली बार लड़ेंगे चुनाव

By: Ramakant Shukla | Created At: 25 March 2024 10:53 AM


मध्यप्रदेश में कांग्रेस संगठन में युवा नेतृत्व को आगे लाने के बाद अब लोकसभा चुनाव में नए चेहरों के साथ मैदान में उतरी है। 29 लोकसभा सीटों में से अभी तक 22 के लिए प्रत्याशी घोषित किए जा चुके हैं। इनमें 10 पहली बार चुनाव लड़ेंगे। वहीं, पांच विधायकों पर भी दांव लगाया है। संगठन में काम कर चुके नेताओं को चुनाव लड़ने का मौका दिया गया है।

banner
मध्यप्रदेश में कांग्रेस संगठन में युवा नेतृत्व को आगे लाने के बाद अब लोकसभा चुनाव में नए चेहरों के साथ मैदान में उतरी है। 29 लोकसभा सीटों में से अभी तक 22 के लिए प्रत्याशी घोषित किए जा चुके हैं। इनमें 10 पहली बार चुनाव लड़ेंगे। वहीं, पांच विधायकों पर भी दांव लगाया है। संगठन में काम कर चुके नेताओं को चुनाव लड़ने का मौका दिया गया है।

नीलम मिश्रा कांग्रेस से पहली बार लड़ेंगी चुनाव

बालाघाट जिला पंचायत के अध्यक्ष सम्राट सिंह को आगे करके पार्टी ने क्षेत्र में नया चेहरा तैयार किया है। भाजपा ने भी यहां से भारती पारधी के रूप में नया चेहरा दिया है। पार्टी ने टीकमगढ़ से अपने अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज अहिरवार को आगे बढ़ाया है। उन्होंने विधानसभा चुनाव में जतारा से टिकट मांगा था लेकिन पार्टी ने किरण अहिरवार पर भरोसा जताया था। रीवा में जातीय समीकरण को देखते हुए सेमरिया से विधायक अभय मिश्रा की पत्नी नीलम पर दांव लगाया है। अभय विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस में आए थे। वहीं, नीलम मिश्रा भाजपा से 2013 में सेमरिया से विधायक भी रह चुकी हैं पर कांग्रेस से पहली बार चुनाव लड़ेंगी। जबलपुर से दिनेश यादव और भोपाल से अरुण श्रीवास्तव को चुनाव लड़ने के लिए चुना गया है। सागर से पार्टी कमलनाथ के करीबी पूर्व विधायक अरुणोदय चौबे को चुनाव लड़ाना चाहती थी। उनका नाम भी प्रस्तावित किया गया था लेकिन उन्होंने पाला बदलकर भाजपा की सदस्यता ले ली तो कांग्रेस ने बसपा छोड़कर विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस में शामिल हुए चंद्रभूषण सिंह बुंदेला गुड्डू राजा पर दांव लगाया। पार्टी ने इंदौर से अक्षय कांति बम को आगे बढ़ाया है। ये भी पहली बार चुनाव लड़ेंगे। वहीं, बैतूल से आदिवासी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामू टेकाम और सतना से अन्य पिछड़ा वर्ग विभाग के अध्यक्ष सिद्धार्थ कुशवाहा पर भरोसा जताया है।

22 में केवल एक महिला

कांग्रेस ने अब तक 22 सीटों के प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। इसमें केवल एक महिला रीवा से नीलम अभय मिश्रा हैं। जबकि, 2019 के चुनाव में कांग्रेस ने मंदसौर से मीनाक्षी नटराजन, टीकमगढ़ से किरण अहिरवार, खजुराहो से कविता सिंह, शहडोल से प्रमिला सिंह और राजगढ़ से मोना सुस्तानी को प्रत्याशी बनाया था। भाजपा ने 29 सीटों में छह सीटों पर महिला प्रत्याशी दिए हैं। इनमें शहडोल से हिमाद्री सिंह, बालाघाट से भारती पारधी, सागर से लगता वानखेड़े, धार से सावित्री ठाकुर, भिंड से संध्या राय और रतलाम से अनीता चौहान शामिल हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने चार महिलाओं को प्रत्याशी बनाया था और चारों ने जीत प्राप्त की थी। सूत्रों का कहना है कि जिन छह सीटों के प्रत्याशियों की घोषणा होना शेष हैं, उनमें दो सीटों पर महिला प्रत्याशी हो सकती हैं।

विधायक-पूर्व विधायकों पर भरोसा

पार्टी ने जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों को देखते हुए भिंड से फूल सिंह बरैया, शहडोल से फुंदेलाल सिंह मार्को, मंडला से ओंमकार सिंह मरकाम, उज्जैन से महेश परमार और सतना से सिद्धार्थ कुशवाहा को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं, 2023 में विधानसभा चुनाव हारने वाले होशंगाबाद से पूर्व विधायक संजय शर्मा, सीधी से कमलेश्वर पटेल और मंदसौर से दिलीप सिंह गुर्जर पर भरोसा जताया है।

वरिष्ठ नेताओं को मैदान में उतारकर दिया संदेश

लोकसभा चुनाव की तैयारियों के बीच बार-बार यह बात सामने आई कि बड़े नेता चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। इस बीच कांग्रेस छोड़कर बड़ी संख्या में पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भाजपा में चले गए। इससे पार्टी के प्रति बन रहे नकारात्मक माहौल को बदलने और कार्यकर्ताओं को संदेश देने के लिए वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को राजगढ़ और कांतिलाल भूरिया को रतलाम से चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया गया।

50 प्रतिशत टिकट नए चेहरों को दिए

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस पूरी दम के साथ चुनाव मैदान में उतरेगी। 50 प्रतिशत टिकट नए चेहरों को दिए गए हैं। शेष छह सीटों के प्रत्याशी के नाम 27 मार्च को प्रस्तावित केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में तय हो जाएंगे। अरुण यादव पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। जो पार्टी निर्णय लेगी, वैसा सब करेंगे। कांग्रेस ने अनुशासनहीनता के कारण जिन्हें बाहर किया था, उनमें से 80 प्रतिशत ने भाजपा की सदस्यता ली है।