H

झारखंड में 'खेला' का डर! हैदराबाद शिफ्ट किए गए JMM गठबंधन के विधायक

By: Sanjay Purohit | Created At: 02 February 2024 04:54 PM


जेएमएम गठबंधन के सभी विधायकों को चार्टर्ड प्लेन से हैदराबाद भेज दिया गया।

banner
रांची: झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के विधायक दल के नेता चंपई सोरेन ने आज झारखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। कांग्रेस के आलमगीर आलम और राजद नेता सत्यानंद भोक्ता ने रांची के राजभवन में झारखंड कैबिनेट में मंत्री पद की शपथ ली। राजभवन के दरबार हॉल में शपथ ग्रहण समारोह हुआ। शपथ ग्रहण से पहले राष्ट्रगान हुआ। वहीं, जेएमएम गठबंधन के सभी विधायकों को चार्टर्ड प्लेन से हैदराबाद भेज दिया गया।

चार्टर्ड प्लेन से हैदराबाद पहुंचेंगे विधायक

शपथ ग्रहण के बाद महागठबंधन के 39 विधायक एयरपोर्ट जा रहे हैं। वहां पहले से बसें खड़ी हैं। सभी विधायक चार्टर्ड प्लेन से हैदराबाद पहुंचेंगे। जानकारी के अनुसार सभी विधायक फ्लोर टेस्ट तक हैदराबाद में ही रहेंगे। बताया जा रहा है कि 5 फरवरी को फ्लोर टेस्ट होगा। जेएमएम को आशंका है कि फ्लोर टेस्ट तक बीजेपी इन विधायकों को अपने पाले में कर सकती है, जिस कारण इन सभी विधायकों को हैदराबाद भेजा गया है। उधर, शपथ ग्रहण करने के बाद राजभवन से मुख्यमंत्री चम्पई सोरेन का काफिला निकल गया है। चम्पई सोरेन बापू वाटिका पहुंचकर बापू को नमन करेंगे। चंपई सोरेन को राज्यपाल ने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री नियुक्त किया था। उससे पहले चंपई सोरेन ने राज्यपाल से जल्द से जल्द सरकार बनाने के उनके दावे को स्वीकार करने का आग्रह किया था, क्योंकि राज्य में ‘भ्रम' की स्थिति बनी हुई थी और प्रदेश में कोई मुख्यमंत्री नहीं था। यह स्थिति बुधवार को हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद से राज्य में मुख्यमंत्री न होने की वजह से थी और इसके कारण राजनीतिक संकट गहरा गया था। प्रदेश कांग्रेस प्रमुख राजेश ठाकुर ने कहा कि चंपई सोरेन को अपनी सरकार का बहुमत साबित करने के लिए 10 दिन का समय दिया गया है। कांग्रेस राज्य में झामुमो-नीत गठबंधन की सहयोगी पार्टी है।