H

धार भोजशाला में नमाज के दौरान नहीं होगा सर्वे कार्य,मुस्लिम पक्ष सुप्रीम कोर्ट पहुंचा

By: Sanjay Purohit | Created At: 22 March 2024 01:03 PM


भोजशाला में सर्वे को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। भोजशाला मेें एएसपी डॉ. इंद्रजत बाकलवार, सीएसपी, तीन डीएसपी, आठ थाना प्रभारी सहित 175 पुलिस जवान तैनात किए गए हैं।

banner
भोपाल। मप्र हाईकोर्ट की इंदौर बैंच के आदेश पर धार स्थित भोजशाला का वैज्ञानिक सर्वे आज से शुरू हो गया है। दिल्ली और भोपाल से आई अफसरों की टीम सुबह भोजशाला पहुंची। टीम ने भवन का निरीक्षण किया। सर्वे में काफी सतर्कता बरती जा रही है। सभी के फोन बाहर ही रखवा लिए गए हैं, जबकि 60 कैमरों की मदद से निगरानी की जा रही है। सर्वे के पहले चरण का काम दोपहर 12 तक किया जाएगा। खास बात यह है कि आज शुक्रवार है, ऐसे में नमाज के दौरान सर्वे कार्य नहीं होगा. बता दें गुरुवार की रात को दिल्ली और भोपाल से एएसआई की 15 सदस्यीय टीम धार पहुंच गई थी। इधर , मुस्लिम पक्ष सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है।

भोजशाला में सर्वे को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं । भोजशाला मेें एएसपी डॉ. इंद्रजत बाकलवार, सीएसपी, तीन डीएसपी, आठ थाना प्रभारी सहित 175 पुलिस जवान तैनात किए गए हैं। शहर की ऊंची बिल्डिंगों भी पुलिस की तैनात की गई है। शहर में 25 चौराहों पर पुलिस के फिक्स पाइंट बनाए गए हैं।

नमाज के लिए लोगों को प्रवेश

खास बात यह है कि आज रमजान माह का दूसरा शुक्रवार है। सर्वे के दौरान जुमे की नमाज में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आएगी। जुमे की नमाज के लिए लोगों को भोजशाला में प्रवेश दिया जाएगा। इस दौरान दोपहर 12 से ही सर्वे काम रोक दिया जाएगा, जो शाम चार बजे से पुन: शुरू होगा।

सर्वे में जीपीआर-जीपीएस तकनीक का उपयोग

हाईकोर्ट द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार एएसआई सर्वे में जीपीआर और जीपीएस तकनीक का उपयोग होगा। सर्वे टीम में पांच एक्सपर्ट भी शामिल हैं। जीपीआर (ग्राउंड पेनिट्रेटिंग रडार) यह तकनीक जमीन के भीतर का पता लगाती है, जबकि जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) तकनीक बिल्डिंग की उम्र का पता लगाएगी। इसके साथ ही जीपीआर में कार्बन डेटिंग प्रक्रिया का इस्तेमाल भी किया जाएगा।