H

पे-ग्रेड और भत्तों की मांग को लेकर तीन दिवसीय सामूहिक अवकाश पर गए प्रदेश के पटवारी

By: Ramakant Shukla | Created At: 23 August 2023 07:17 AM


वेतनमान, भत्ते एवं पदोन्नति सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदेश भर के पटवारी आंदोलन पर आमादा हैं। वे अनेक बार अपनी मांगों को लेकर चेतावनी दे चुके हैं। लेकिन शासन-प्रशासन ने अब तक इनकी मांगों पर विचार नहीं किया। नतीजतन प्रदेश भर के पटवारी तीन दिनों के सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं

bannerAds Img
वेतनमान, भत्ते एवं पदोन्नति सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदेश भर के पटवारी आंदोलन पर आमादा हैं। वे अनेक बार अपनी मांगों को लेकर चेतावनी दे चुके हैं। लेकिन शासन-प्रशासन ने अब तक इनकी मांगों पर विचार नहीं किया। नतीजतन प्रदेश भर के पटवारी तीन दिनों के सामूहिक अवकाश पर चले गए हैं

सभी सरकारी व्हाट्सएप ग्रुपों से हुए लेफ्ट

सामूहिक हड़ताल में जाने की कड़ी में सबसे पहले जिले के पटवारियों ने संबंधित तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर अवकाश पर जाने की औपचारिक सूचना दी और सभी सरकारी व्हाट्सएप ग्रुपों से वे लेफ्ट हो गए।

मप्र पटवारी संघ ने यह कहा

मध्यप्रदेश पटवारी संघ ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि वर्षों से पटवारियों के वेतनमान में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की गई। जबकि पटवारियों से राजस्व विभाग और भू अभिलेख विभाग द्वारा तमाम प्रकार का कार्य कराया जा रहा है। पटवारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र सिंह का कहना है कि राजस्व निरीक्षक, नायब तहसीलदार, सहायक अधीक्षक भू अभिलेख, तहसीलदार और अधीक्षक भू अभिलेख के वेतनमान में अब तक कई बार बढ़ोत्तरी हो चुकी है। वर्ष 2007 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा पटवारियों को 2800 का पे-ग्रेड दिए जाने की घोषणा की गई थी। डेढ़ दशक से ज्यादा का वक्त बीत चुका है, लेकिन सीएम की ओर से ये अब तक अपने ही आश्वासन को पूरा नहीं किया जा सका है।

दो माह पहले भी किया था प्रदर्शन

वर्तमान में सामूहिक अवकाश पर जाने से दो महीने पहले भी पटवारियों ने प्रदर्शन कर अपनी मांगों को शासन तक पहुंचाया था। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पाने की वजह से पटवारी संघ ने अपने प्रदर्शन को तल्खी प्रदान करने का निर्णय ले लिया है। तीन दिनों के अवकाश से बात नहीं बनी तो 26 अगस्त को भोपाल में तिरंगा यात्रा निकाली जाएगी। इसके बाद 28 अगस्त से सभी पटवारी कलमबंद हड़ताल पर चले जाएंगे।