H

Sunday Special Story: डॉक्टर का प्रोफेशन छोड़ की UPSC की तैयारी, दिखने मे लगती है मॉडल, जानें खूबसुरत IFS ऑफिसर डॉ. अपाला मिश्रा की सक्सेस स्टोरी

By: payal trivedi | Created At: 03 September 2023 05:36 AM


“सफल लोग कहीं और से नहीं आते हैं,वे हमारे बीच से आते हैं,और कड़ी मेहनत (Sunday Special Story) के साथ कुछ अलग करने की कोशिश करते हैं। ऐसी ही एक IAS ऑफिसर की कहानी जिसने अपना डॉक्टर का प्रोफेशन छोड़कर UPSC जैसी कठिन परीक्षा में बैठने का निर्णय लिया और अपने तीसरे अटेम्प्ट में ही उन्होंने सफलता प्राप्त कर ली।

bannerAds Img
New Delhi: “सफल लोग कहीं और से नहीं आते हैं,वे हमारे बीच से आते हैं,और कड़ी मेहनत (Sunday Special Story) के साथ कुछ अलग करने की कोशिश करते हैं। ऐसी ही एक IAS ऑफिसर की कहानी जिसने अपना डॉक्टर का प्रोफेशन छोड़कर UPSC जैसी कठिन परीक्षा में बैठने का निर्णय लिया और अपने तीसरे अटेम्प्ट में ही उन्होंने सफलता प्राप्त कर ली। दरअसल सन्डे स्पेशल स्टोरी में आज हम बात कर रहे हैं 2020 में UPSC जैसी कठिन परीक्षा में टॉप 10 में जगह बनाने वाली IFS ऑफिसर अपाला मिश्रा की।

तीसरे अटेम्प्ट में मिली सफलता

आपको बता दें कि अपाला मिश्रा उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Sunday Special Story) की रहने वाली हैं। वे मूल रूप से बस्ती जिले की हैं। उन्होंने एक प्रोफेशन छोड़कर प्रशासनिक सेवा में शामिल होने की दिशा में अपना कदम बढ़ाया और अंत में जीत हासिल कर पने परिवार और जिले का मान बढ़ाया। आज हम आपको डेंटिस्ट से आईएएस बनी अपाला मिश्रा के संघर्ष की कहानी बताएंगे, जिन्होंने यूपीएससी में दो बार नाकामी हासिल की और तीसरी बार में अपने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। अपाला मूल रूप से बस्ती जिले की हैं। आईएएस अपाला के पिता का नाम अमिताभ मिश्रा है जो सेना में कर्नल की पोस्ट से रिटायर हैं। और उनकी मां दिल्ली यूनिवर्सटी में प्रोफेसर है। अपाला मिश्रा के भाई अभिलेख मिश्रा आर्मी में मेजर हैं।

मेडिकल की प्रेक्टिस छोड़ की UPSC की तैयारी

आपको बता दें कि अपाला ने दसवीं की पढ़ाई देहरादून से की। इसके बाद 11वीं व 12वीं की परीक्षा रोहिणी दिल्ली से की। अपाला मिश्रा ने आर्मी कॉलेज से बीडीएस पास किया और डेंटिस्ट की डिग्री हासिल की। हालांकि अपाला (Sunday Special Story) का सपना कुछ और था, समाज की सेवा करने का लक्ष्य बनाते हुए अपाला ने प्रशासनिक अफसर बनने की ठान ली। अपनी मेडिकल की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने प्रैक्टिस नहीं की बल्कि यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। साल 2018 में पहली बार वह यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हुईं, हालांकि पहले प्रयास में अपाला की कोशिश कामयाब नहीं रही, लेकिन उन्हें पता था कि वह यूपीएससी पास कर सकती हैं। कुछ समय के लिए अपाला ने कोचिंग जॉइन की लेकिन बाद में सेल्फ स्टडी की। दूसरे प्रयास में भी अपाला फेल हो गईं, लेकिन रोजाना सात से आठ घंटे पढ़ाई की और तीसरे अटेम्प्ट में यानि यूपीएससी 2020 में परीक्षा पास कर ली, साथ ही टॉप 10 में जगह बनाई। अपाला की आल इंडिया रैंक 9 थी। आज वे एक IFS ऑफिसर है, और भारत के लिए विदेश में अपनी सेवाएं दे रही हैं।

इंटरव्यू में सबसे ज्यादा नंबर पाने का रिकॉर्ड

डॉ. अपाला ने इंटरव्यू राउंड में 2020 तक सबसे ज्यादा नंबर हासिल करने का रिकॉर्ड बनाया। 2019 में यूपीएससी के इंटरव्यू राउंड में 212 नंबर हासिल करने का सबसे ज्यादा रिकॉर्ड था लेकिन, अपाला ने इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया और इंटरव्यू राउंड में 215 नंबर हासिल कर एक नया रिकॉर्ड बनाया।