H

शाहनवाज, नीरज बबलू, निवेदिता सिंह, BJP के कौन-कौन नेता बन सकते हैं मंत्री

By: Sanjay Purohit | Created At: 30 January 2024 12:50 PM


बिहार में बनी नई एनडीए सरकार में बेहद सतर्कता से मंत्रिमंडल तैयार करने की तैयारी है। कहा जा रहा है कि बीजेपी इस बार 50 फीसदी अनुभवी और इतने ही यंग नेताओं को मंत्रि परिषद में जगह देगी। इतना ही नहीं, बिहार विधानसभा के स्पीकर की कुर्सी पर भी बीजेपी के किसी वरिष्ठ नेता को लाने की तैयारी है।

banner
बिहार में चल पड़ी डबल इंजन की सरकार में जातीय तुष्टिकरण की बोगी लगने वाली है। बीजेपी इस बार इस डबल इंजन की सरकार में नए फ्लेवर के साथ आ रही है। बीजेपी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी में अनुभवी और यंग इनरजेटिक मंत्रियों की संख्या 50-50 होने जा रही है।

डेप्युटी सीएम के साथ दिखा बीजेपी के तेवर

बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने जिस तरह से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को साधने दो युवा और सक्रिय नेता सम्राट चौधरी और विजय सिन्हा को डेप्युटी सीएम बनाया उससे नई सरकार के मंत्रियों के शामिल करने का आगाज दिखा डाला। अब जब मंत्रिपरिषद के विस्तार की बात चली है तो पहले से तैयारी कर रखे बीजेपी नेतृत्व ने जातीय संतुलन का फॉर्म्यूला तैयार कर लिया है।

संभावनाएं क्या क्या हैं?

बीजेपी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष हरी सहनी अतिपिछड़ा का चेहरा हो सकते हैं। दलित चेहरा को लेकर बीजेपी बसपा से आए जनक चमार को मंत्री बना सकती है। मुस्लिम चेहरा में शाहनवाज हुसैन को फिर मौका दिया जा सकता है। उद्योग विभाग में बेहतर काम से देश भर में पहचान बनाने का इनाम मिल सकता है। राजपूत चेहरा का प्रतिनिधित्व नीरज बबलू कर सकते हैं। राजपूत चेहरा और महिला मंत्री का चेहरा विधान पार्षद निवेदिता सिंह बन सकती हैं। ब्राह्मण चेहरा में नीतीश मिश्रा और आलोक रंजन झा को भी बीजेपी जगह दे सकती है। नितिन नवीन कायस्थ और युवा चेहरा का प्रतिनिधित्व कर सकते हैं।

बीजेपी के कोटे में विधानसभा अध्यक्ष

विधानसभा अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी अनुभवी नेता नंदकिशोर यादव को दी जा सकती है। अगर महिला और अनुभवी चेहरा के रूप में तलाश हुई तो पूर्व डेप्युटी सीएम रेणु देवी को विधान सभा अध्यक्ष की जिम्मेवारी दी जा सकती है।