H

पप्पू यादव की पार्टी का कांग्रेस में विलय, इस सीट से लड़ सकते हैं चुनाव

By: Ramakant Shukla | Created At: 20 March 2024 04:51 PM


पप्पू यादव ने अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर लिया। लोकसभा चुनाव से पहले पूर्व सांसद ने जन अधिकार पार्टी का कांग्रेस में विलय करने का फैसला लिया। वो पूर्णिया सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ सकते हैं। उनकी पत्नी रंजीत रंजन कांग्रेस की राज्यसभा सांसद हैं। उनके बेटे सार्थक भी कांग्रेस में शामिल हो गए। सूत्रों के मुताबिक, पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल कराने के पीछे प्रियंका गांधी ने अहम भूमिका निभाई।

banner
पप्पू यादव ने अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय कर लिया। लोकसभा चुनाव से पहले पूर्व सांसद ने जन अधिकार पार्टी का कांग्रेस में विलय करने का फैसला लिया। वो पूर्णिया सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ सकते हैं। उनकी पत्नी रंजीत रंजन कांग्रेस की राज्यसभा सांसद हैं। उनके बेटे सार्थक भी कांग्रेस में शामिल हो गए। सूत्रों के मुताबिक, पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल कराने के पीछे प्रियंका गांधी ने अहम भूमिका निभाई। कांग्रेस में शामिल होने के बाद पप्पू यादव ने कहा कि जन अधिकार पार्टी तीन चुनाव लड़ी। इसमें दो विधानसभा और एक लोकसभा का चुनाव शामिल है। इस पार्टी ने लंबा संघर्ष किया है। हमारी पार्टी सेवा, न्याय और संघर्ष के लिए जानी जाती है। कांग्रेस की विचारधारा हमेशा हमें ऊर्जा देती रही है। हमारी राजनीति की नींव सेक्यूलर रही है। किसी भी धर्म पर कोई हमला नहीं। हर परिस्थिति में दूसरे के विचारों का सम्मान मेरा इतिहास रहा है।

राहुल गांधी की जमकर की तारीफ

पप्पू यादव ने कहा, "दुनिया के सबसे बड़े तानाशाह से लड़ने की हिम्मत राहुल गांधी में हैं। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का विश्वास मेरे लिए सबकुछ है। दो लोगों के विश्वास ने हमें हिम्मत दी है. हिंदुस्तान के लोगों को दिल किसी ने जीता है तो वो राहुल गांधी हैं। किसी ने लोगों में उम्मीद जगाई है वो राहुल गांधी हैं। उनकी सामाजिक न्याय को लेकर जो कमिटमेंट है, हमने उससे प्रभावित होकर कांग्रेस में शामिल होने का फैसला किया। हम लालू यादव और तेजस्वी यादव मिलकर 2024 का चुनाव और 2025 का विधानसभा चुनाव भी जीतेंगे। इससे पहले मंगलवार को पप्पू यादव ने आरजेडी चीफ लालू यादव और बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के साथ मुलाकात की थी। मुलाकात की तस्वीर शेयर करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि पारिवारिक माहौल में मुलाक़ात हुई। मिलकर बिहार में बीजेपी को जीरो पर आउट करने की रणनीति पर चर्चा हुई।