H

पुडुचेरी में गूंजा सीएम डॉ. मोहन यादव का नाम

By: payal trivedi | Created At: 10 July 2024 07:52 AM


मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने घोषणा की थी कि प्रदेश भर में चल रहे परिवहन चेक पोस्ट नाकों को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाता है और उनके स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाती है। उनके इस निर्णय को मध्य प्रदेश के साथ देशभर में सराहा जा रहा है। वहीं ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने इसे एक सुखद अध्याय का प्रारंभ बताया है।

bannerAds Img
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने घोषणा की थी कि प्रदेश भर में चल रहे परिवहन चेक पोस्ट नाकों को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाता है और उनके स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाती है। उनके इस निर्णय को मध्य प्रदेश के साथ देशभर में सराहा जा रहा है। वहीं ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने इसे एक सुखद अध्याय का प्रारंभ बताया है।

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने की जमकर तारीफ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के एक निर्णय की गूंज पूरे देश में है। पुडुचेरी में चल रही ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस में मुख्यमंत्री यादव की जमकर तारीफ हुई है और उनके द्वारा मध्य प्रदेश में परिवहन चेकपोस्ट समाप्त करने के निर्णय को ऐतिहासिक बताया जा रहा है। ट्रांसपोर्टरों का मानना है कि मध्य प्रदेश के विकास में डॉक्टर मोहन यादव का चेक पोस्ट नाके बंद करने का निर्णय मील का पत्थर साबित होगा। इंदौर ट्रक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष सीएल मुकाती के नेतृत्व में प्रदेश भर के ट्रकों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ डॉक्टर मोहन यादव के पोस्टर चिपकाए गए हैं और सीएम डॉक्टर मोहन यादव द्वारा लिए गए इस निर्णय की जमकर तारीफ की जा रही है। इसके लिए उनके द्वारा मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया गया है। वहीं पुडुचेरी में चल रही ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस में भी सीएम डॉक्टर मोहन यादव के इस निर्णय की जमकर तारीफ हुई और इस निर्णय को प्रदेश के विकास के लिए ऐतिहासिक बताया गया। इस अवसर पर मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सीएम डॉ मोहन यादव के पोस्टर भी दिखाए गए और सीएम डॉ. यादव के इस निर्णय को ट्रांसपोर्ट व्यवसाय के लिए भी एक सुखद अध्याय की शुरुआत बताया गया।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने लिया ऐतिहासिक फैसला

1 जुलाई 2024 को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने घोषणा की थी कि प्रदेश भर में चल रहे परिवहन चेक पोस्ट नाकों को तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाता है और उनके स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाती है। दरअसल पिछले लंबे समय से इस बात की शिकायतें मिल रही थी कि मध्य प्रदेश के परिवहन चेक पोस्टों पर अवैध वसूली की जा रही है और देश भर से आने जाने वाले ट्रांसपोर्टस को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं इन चेक पोस्टों पर नियुक्त अधिकारियों द्वारा अवैध रूप से निजी व्यक्तियों की, जिन्हें आम भाषा में कटर कहा जाता है, की नियुक्ति कर ली गई थी जो अवैध वसूली के लिए ट्रक ड्राइवरों के साथ मारपीट और गाली गलौज तक करने से बाज नहीं आ रहे थे। इसके चलते देश भर में मध्य प्रदेश की छवि पर प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ रहा था। मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव के पास जब इस बात की शिकायतें पहुंची तो उन्होंने इसकी सूक्ष्मता से जांच कराई और सही पाए जाने पर तत्काल प्रभाव से परिवहन चेकपोस्ट को बंद करने का निर्णय लिया।