H

Loksabha Election: राजस्थान कांग्रेस के स्टार प्रचारक हेमाराम चौधरी ने विवादित टिप्पणी पर वीडियो जारी कर मांगी माफी, कही ये बड़ी बात

By: payal trivedi | Created At: 30 March 2024 12:32 PM


कांग्रेस के स्टारक प्रचार पूर्व मंत्री हेमाराम चौधरी ने जैन समाज व राजपूत समाज से माफी मांगते हुए वीडियो जारी किया है। जिसमें कहा कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मेरे ओर से किसी जाति, व्यक्ति, समाज, समुदाय या धर्म के बारे के बारे में ऐसे कोई टिप्पणी करने का इरादा नहीं था।

banner
Jaipur: कांग्रेस के स्टारक प्रचार पूर्व मंत्री हेमाराम चौधरी (Loksabha Election) ने जैन समाज व राजपूत समाज से माफी मांगते हुए वीडियो जारी किया है। जिसमें कहा कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मेरे ओर से किसी जाति, व्यक्ति, समाज, समुदाय या धर्म के बारे के बारे में ऐसे कोई टिप्पणी करने का इरादा नहीं था। फिर भी अभी चुनाव प्रचार के दौरान मैंने ऐसी टिप्पणीयां कीं, जिससे विशेषकर राजपूत समाज और जैन समाज को ठेस पहुंची। उसके लिए मैं इन समाज से माफी मांगता हूं।

सभाओं में दी थी हेमाराम ने स्पीच

दरअसल, लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी, कांग्रेस और निर्दलीय विधायक रविंद्र सिंह भाटी चुनाव प्रचार कर रहे हैं। गुरुवार को बीजेपी प्रत्याशी कैलाश चौधरी ने नामांकन पत्र दाखिल किया। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेदाराम के पक्ष में विधानसभा वार चुनाव प्रचार किया जा रहा है। कांग्रेस स्टार प्रचारक एवं पूर्व मंत्री हेमाराम चौधरी ने बायतु, गुड़ामालानी में सभाओं में स्पीच दी थी।

चौधरी ने वीडियो जारी कर मांगी माफी

स्टारक प्रचार हेमाराम चौधरी ने बायतु में आयोजित जनसभा में अपनी स्पीच में एक किस्से का जिक्र करते हुए कहा कि राजस्थान के पूर्व गृहमंत्री मथुरादास माथुर ने लोगों से कहा कि कांग्रेस ने क्या किया। तब गृह मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने महारानियां जो पर्दों में और महलों में रहती थीं। उनको सड़क पर लाकर लोगों के सामने हाथ जुड़वा दिए। जोधपुर और जयपुर की महारानियों ने लोकसभा चुनाव लड़ा और लोगों के सामने हाथ जुड़वाने का काम किसने किया तो कांग्रेस ने किया। वहीं जैन समाज लेकर टिप्पणी की थी यह तो लड़कियां बाहर से लेकर आते हैं। इसके बाद अलग-अलग विशेष समाज में विरोध शुरू हो गया। इसको देखते हुए वीडियो जारी कर माफी मांगी।

वीडियो में कही ये बात

वीडियो जारी करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव प्रचार (Loksabha Election) के दौरान मेरे ओर से किसी जाति, व्यक्ति, समाज, समुदाय या धर्म के बारे के बारे में ऐसे कोई टिप्पणी करने का इरादा नहीं था। फिर भी अभी चुनाव प्रचार के दौरान मैंने ऐसी टिप्पणीयां कीं, जिससे विशेषकर राजपूत समाज और जैन समाज को ठेस पहुंची। उसके लिए मैं इन समाज से माफी मांगता हूं। यह बात सही है कि मैंने जो बात कही है उनसे उनको ठेस पहुंचना भी वाजिब था। उनको ही नहीं मुझे खुद को भी यह महसूस हो रहा है कि मैंने बहुत बड़ी भारी गलती की है। उसके लिए मैं एक बार फिर से इन दोनों समाज और भी किसी को मेरे चुनावी प्रचार के दौरान मेरी वाणी या मेरे भाषण से किसी को कोई ठेस पहुंची है तो वो मुझे माफ करें। आगे मैं इस प्रकार की कोई बात नहीं कहूंगा इसका मैं ध्यान रखूंगा।