H

राम मंदिर से धर्मनिरपेक्षता मजबूत होगी, IUML नेता सादिक अली के बयान से छिड़ा सियासी बवाल

By: Sanjay Purohit | Created At: 06 February 2024 02:11 PM


इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) केरल के अध्यक्ष सादिक अली शिहाब थंगल ने कहा है कि अयोध्या में नवनिर्मित राम जन्मभूमि मंदिर देश में धर्मनिरपेक्षता को मजबूत करेगा।

banner
इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आईयूएमएल) केरल के अध्यक्ष सादिक अली शिहाब थंगल ने कहा है कि अयोध्या में नवनिर्मित राम जन्मभूमि मंदिर देश में धर्मनिरपेक्षता को मजबूत करेगा। गौरतलब है कि आईयूएमएल राज्य में कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) का दूसरा सबसे बड़ा सहयोगी है। थंगल ने कहा कि अयोध्या में मंदिर के खिलाफ विरोध करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि यह देश के अधिकांश लोगों की मांग के कारण वास्तविकता में तब्दील हो गया है। उन्होंने केरल में एक सार्वजनिक बैठक में विवादित मुद्दे पर अपनी राय स्पष्ट की है।

'मंदिर का विरोध करने की कोई जरूरत नहीं'

उन्होंने कहा, 'मंदिर की मांग देश के बहुसंख्यक लोगों की है। इसका विरोध करने की कोई जरूरत नहीं है। मंदिर उच्चतम न्यायालय के फैसले से अस्तित्व में आया और न्यायालय के फैसले के तहत ही बाबरी मस्जिद बनने जा रही है।' हम इससे पीछे नहीं हट सकते। ये दोनों भारत की धर्मनिरपेक्षता को मजबूत करने के महान उदाहरण हैं। हमें इसे आत्मसात करना चाहिए।' उन्होंने कहा, 'एक बहुलवादी समाज में हर किसी की अपनी-अपनी मान्यताएं, परंपराएं, रीति-रिवाज होते हैं। देश उसके अनुसार आगे बढ़ने के लिए स्वतंत्र है।' उन्होंने कहा, 'हम जानते हैं कि बाबरी मस्जिद को कारसेवकों ने नष्ट कर दिया था। हमने उस समय विरोध किया था, लेकिन, भारतीय मुसलमान खासकर केरल में सहिष्णुता के साथ इसका सामना करने में सक्षम हैं,। केरल के मुसलमान पूरे देश के लिए एक उदाहरण स्थापित करने में सक्षम हैं।'

इंडियन नेशनल लीग ने खड़े किए सवाल

इंडियन नेशनल लीग (आईएनएल) के केरल राज्य सचिवालय के सदस्य एन. के. अब्दुल अजीज ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि राजनीतिक नेता इस तथ्य से अनभिज्ञ नहीं हैं कि महात्मा गांधी का 'राम राज्य' आरएसएस के 'राम राज्य' से अलग है। अजीज ने कहा, 'आस्तिक का आध्यात्मिक हिंदू धर्म आरएसएस के राजनीतिक हिंदुत्व से अलग है और राजनीतिक नेता इस तथ्य से अनभिज्ञ नहीं हैं। फिर भी वे अपने समर्थकों को मूर्ख बना रहे हैं। यह विश्वास करना संभव नहीं है कि आईयूएमएल के कार्यकर्ता इस रुख को स्वीकार करेंगे।

विरोधी कर रहे भाषण का दुरुपयोग - कुन्हालीकुट्टी

थंगल की टिप्पणी पर उपजे विवाद पर प्रतिक्रिया देते हुए आईयूएमएल विधायक पी.के. कुन्हालीकुट्टी ने कहा कि थंगल का उद्देश्य समाज में सांप्रदायिक सछ्वाव बनाए रखना है। उन्होंने कहा, 'राजनीतिक विरोधी परेशानी पैदा करने के लिए भाषण की सामग्री का दुरुपयोग और गलत व्याख्या कर रहे हैं।'