H

10 फरवरी को होगी नीतीश कुमार की नई सरकार की 'अग्नि परीक्षा', स्पीकर अवध बिहारी चौधरी के लिए भी होगा खास दिन

By: Sanjay Purohit | Created At: 06 February 2024 01:11 PM


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 10 फरवरी को अपनी सरकार के पक्ष में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश करेंगे। उसी दिन राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर विधानमंडल के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे। राज्य का 2024-25 का बजट 12 फरवरी को ही पेश होगा। संसदीय कार्य विभाग की अधिसूचना के अनुसार राज्यपाल विधान मंडल के विस्तारित भवन के सेंट्रल हाल में 11.30 बजे संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करेंगे।

banner
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 10 फरवरी को अपनी सरकार के पक्ष में विश्वास मत का प्रस्ताव पेश करेंगे। उसी दिन राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर विधानमंडल के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे। राज्य का 2024-25 का बजट 12 फरवरी को ही पेश होगा। संसदीय कार्य विभाग की अधिसूचना के अनुसार, राज्यपाल विधान मंडल के विस्तारित भवन के सेंट्रल हाल में 11.30 बजे संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करेंगे। पहले से पांच फरवरी से निर्धारित बजट सत्र की संशोधित कार्यसूची मंगलवार को जारी कर दी गई है।

अवध बिहारी चौधरी पर भी हो जाएगा फैसला

कार्यसूची के अनुसार राज्यपाल के अभिभाषण के तुरंत बाद जब विधानसभा की कार्यवाही शुरू होगी, सरकार की ओर से विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया जाएगा। इस पर चर्चा होगी और बाद मतदान होगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने संबोधन में बताएंगे कि उन्हें विश्वास मत का प्रस्ताव क्यों पेश करना पड़ रहा है। सूत्रों ने बताया कि उसी दिन विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी के भविष्य पर भी निर्णय हो जाएगा। अगर वे स्वत: अध्यक्ष पद का त्याग नहीं करते हैं तो इसके लिए भी मतदान होगा।