H

Rajasthan Politics: पूर्व सांसद मानवेंद्र सिंह का कांग्रेस पर तंज, सोशल मीडिया पर फोटो शेयर कर लिखी ये बात

By: payal trivedi | Created At: 22 March 2024 01:40 PM


बाड़मेर जिले की शिव और सिवाना विधानसभा सीट पर बागी होकर चुनाव लड़े फतेह खान और सुनील परिहार को 6 साल के लिए पार्टी ने निष्कासित कर दिया था।

banner
Jaipur: बाड़मेर जिले की शिव और सिवाना विधानसभा सीट (Rajasthan Politics) पर बागी होकर चुनाव लड़े फतेह खान और सुनील परिहार को 6 साल के लिए पार्टी ने निष्कासित कर दिया था। लेकिन कांग्रेस पार्टी ने 5 माह बाद निष्कासन समाप्त कर वापस दुपट्‌टा पहना दिया। इन सीटों पर चुनाव लड़े कांग्रेस प्रत्याशियों ने सवाल उठाने शुरू कर दिए।

कांग्रेस पर कसा तंज

सिवाना से चुनाव लड़े पूर्व सांसद मानवेंद्र सिंह ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस पार्टी पर तंज कंसते कसते हुए लिखा किनिष्कासन के बाद 6 वर्ष की अवधि काफी जल्दी बीत गई। पूर्व सांसद बीते दिनों जोधपुर में बंद कमरें में सीएम भजनलाल शर्मा व मंत्रियों से मुलाकात के बाद कयास लगाए जा रहे है कि कांग्रेस छोड़ जल्द ही बीजेपी में शामिल होंगे।

2018 में बीजेपी छोड़तक कांग्रेस में शामिल हुए थे

दरअसल, पूर्व सांसद मानवेंद्र सिंह 2018 विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे। इसके बाद कांग्रेस पार्टी ने 2018 विधानसभा चुनाव झालारापाटन सीट पर वसुंधरा राजे के सामने चुनाव लड़वाया लेकिन हार गए। 2019 लोकसभा चुनाव में बाड़मेर-जैसलमेर सीट से चुनाव लड़ा लेकिन हार गए। इसके कांग्रेस सरकार में सैनिक कल्याण बोर्ड का अध्यक्ष बनाया।

6 साल के लिए कर दिया था निष्कासित

साल 2023 विधानसभा चुनाव मानवेंद्र सिंह जसोल (Rajasthan Politics) जैसलमेर से लड़ना चाहते थे। उन्होंने आलाकमान के इशारे पर चुनाव प्रसार भी शुरू कर दिया। लेकिन पार्टी ने वहां पर टिकट नहीं देकर सिवाना सीट से टिकट दे दी। वहां से दावेदारी कर रहे सुनील परिहार टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर निर्दलीय चुनाव लड़ा। वहीं शिव सीट पर तत्कालीन कांग्रेस के जिलाध्यक्ष फतेह खान भी टिकट नहीं मिलने से बागी चुनाव लड़ा। पार्टी ने दोनों को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया। पूर्व सांसद व कांग्रेस से नाराज चल रहे नेता मानवेंद्र सिंह ने पार्टी के इस निर्णय पर सवाल खड़े किए। फतेह खान और सुनील परिहार के निष्कासन वाली पांच माह पुरानी खबर व कल जयपुर में पार्टी में वापस शामिल करने वाले फोटो शेयर करते हुए लिखा कि निष्कासन के बाद 6 वर्ष की अवधि काफी जल्दी बीत गई।

5 माह बाद फिर कल जयपुर में निष्कासन समाप्त कर फिर किया शामिल

दोनों बागियों नेता 5 माह तक निष्कासित रहने के बाद गुरुवार को जयपुर में पीसीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने निष्कासन समाप्त कर वापस पार्टी में शामिल कर लिया। शिव के पूर्व विधायक अमीन खान ने फतेह मोहम्मद को शामिल करने पर आपत्ति भी जता चुके है। अब मानवेंद्र सिंह के पोस्ट शेयर कर नाराजगी जाहिर की।