H

Rajasthan News: कोटा से लोकसभा प्रत्याशी गुंजल बोले- 'भाजपा पुलिस-प्रशासन की मदद से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को डरा रही...'

By: payal trivedi | Created At: 31 March 2024 10:01 AM


कुछ दिनों पहले ही प्रहलाद गुंजल बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इसके बाद वे शनिवार को नामांकन दाखिल करने से पहले गुंजल के लिए सर्किट हाउस रोड पर सभा का आयोजन किया गया था।

banner
Jaipur: कुछ दिनों पहले ही प्रहलाद गुंजल बीजेपी छोड़कर (Rajasthan News) कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इसके बाद वे शनिवार को नामांकन दाखिल करने से पहले गुंजल के लिए सर्किट हाउस रोड पर सभा का आयोजन किया गया था। इस सभा में प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व मंत्री शांति धारीवाल और हिंडौली विधायक अशोक चांदना मौजूद रहे। जहां कांग्रेस के कोटा से लोकसभा प्रत्याशी प्रहलाद गुंजल ने कहा- ये संदीप शर्मा या हीरालाल नागर नहीं है, ये प्रहलाद गुंजल है। जो परिक्रमा करेगा तो सिर्फ राम जी की। ओम बिरला की कभी नहीं। गुंजल ने भाजपा पर पुलिस-प्रशासन की मदद से कांग्रेस कार्यकर्ताओं को डराने का भी आरोप लगाया। कहा- मैं विनम्रता से कहता हूं पुलिस प्रशासन चुनाव का हिस्सा नहीं बनें। अगर बनेंगे तो चुनाव के बाद हमारे विरोध का सामना करने के लिए तैयार रहे।

मेरे मन में भय बैठा है-गुंजल

गुंजल ने कहा- प्रहलाद गुंजल ने कहा कि जिस दिन से कांग्रेस में शामिल होकर कोटा आया उस दिन से क्षेत्र कार्यकर्ताओं में जोश बढ़ गया है। बिरला जी का बीपी बढ़ रहा है। जिस प्रकार का जोश व जुनून देख रहा हूं, में विश्वास के साथ कह सकता हूं,अब बिरला जी का बीपी संतुलित नहीं रह सकता। मेरे मन में भय बैठा है, मैं कांग्रेस परिवार का नया-नया हिस्सा बना हूं नए व्यक्ति को इतना प्यार मिल जाना, सच मान लो मैं इतना भयभीत हूं आपके प्यार को बांधकर कैसे चल पाऊंगा।

'बिरला जी बहुत ताकतवर है'

गुंजल ने आगे कहा कि बिरला जी बहुत ताकतवर है। बिरला खानदान के लोगों का आतंक है। सारी संस्थाओं पर कब्जा, सारे समाजों पर कब्जा, जिसको भारतीय जनता पार्टी में पद प्रतिष्ठा चाहिए बिरला के भाइयों के फोटो माथे पर लगाने पड़ेंगे। मोदी को बैठाने वाले ताकतवर बिरला जी दम है तो प्रहलाद गुंजल की चुनौती स्वीकार करो। अपने चेहरे पर चुनाव लड़के बताओ। मैं प्रहलाद गुंजल, रंधावा जी डोटासरा जी से परमिशन ले लूंगा। हो जाने दो इस चुनाव को प्रहलाद गुंजल वर्सेस ओम बिरला। उन्होंने कहा- ये संदीप शर्मा, हीरालाल नागर नहीं है यह प्रहलाद गुंजल है। प्रहलाद गुंजल परिक्रमा करेगा तो प्रभु श्री रामचंद्र जी के मंदिर की करेगा। बिरला जी की नहीं करेगा। ठोकर मार कर भारतीय जनता पार्टी के बाहर आ गया। मुझे पार्टी छोड़ना मंजूर था गुलामी मंजूर नहीं।

बीजेपी पर लगाया कांग्रेसियों को डराने का आरोप

गुंजल ने भाजपा पर कांग्रेसियों को डराने (Rajasthan News) का आरोप लगाया। उन्होंने कहा- भाजपा पुलिस-प्रशासन का उपयोग कर रही है। कहती है इनपर (कांग्रेसियों) कोई केस लगा दो या पुरानी फाइलें निकालो। मैं बहुत विनम्रता से कह रहा हूं पुलिस प्रशासन चुनाव का हिस्सा नहीं बनें। किसकी मां ने दूध पिया है, जो पुलिस व प्रशासन का डर बता दे। हिम्मत से 26 तारीख तक लड़ो। गुंजल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मैं बिरला जी की तरह झूठ और लफ्फाजी नहीं करना चाहता। मैं तो केवल यह वचन दे रहा हूं। विश्वास की कीमत चुकाने के लिए प्रहलाद गुंजल के प्राण मांग लेना, प्रहलाद गुंजल प्राण की बाजी लगाने में पीछे नहीं हटेगा। आपका विश्वास नहीं टूटने दूंगा, चाहे में खुद टूट जाऊं।

कोटा में IIT बनने को लेकर कही ये बात

कांग्रेस सरकार के समय प्रदेश में आईआईटी की घोषणा हुई थी। वह आईआईटी जोधपुर में खुल गई। कोटा में क्यों नहीं खुली। उस वक्त काफी आंदोलन हुआ था। लोगों ने मुझसे पूछा कोटा में आईआईटी क्यों नहीं खुली? मैंने कहा जिसमें दम था, वह जोधपुर ले गया। उस बात को 20 साल हो गए। पिछले 10 साल से केंद्र में बीजेपी की सरकार है। लेकिन बीजेपी वाले कोटा में आईआईटी लाने का नाम नहीं लेते।

खींच-खींच कर वोट दिलवाओ

गुंजल ने आरोप लगाते हुए कहा- बिरला ने मुकन्दरा का झांसा दिया। कहा कि मुकन्दरा में शेर आएंगे, सफारी चलाएंगे। आज दिन तक कुछ नहीं हुआ। इसलिए ऐसे झूठे व्यक्ति के खिलाफ और मन में कांग्रेस के लिए दर्द है। अगर आप असली कांग्रेसी हो तो खींच-खींच कर कांग्रेस को वोट दिलवाने की कोशिश करें। याद रखना, गद्दारी करने वाला कभी नहीं बख्शा जाएगा। यह चुनाव पार्टी का चुनाव है, हाथ का चुनाव है। इस चुनाव में जो हुक्म हो गया है हाईकमान का, वही सर्वोपरि है। यह मत देखो कौन चुनाव लड़ रहा है, यह देखो की पार्टी का चुनाव चिन्ह किसके पास है। पूरी ताकत लगाकर कांग्रेस को जिताओ। जीतने का यही मौका है। पूरी ताकत लगाओ।

क्या बोले पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा?

पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा ने कहा कि जिस व्यक्ति ने संसद में राहुल गांधी व विपक्ष के नेताओं की सदस्यता खत्म की थी, उसका बदला लेने का समय आ गया है। ये चुनाव इस लिए भी विशेष है कि जिसकी कलम से 150 चुने सांसद को बाहर निकालकर, 18 कानून पारित करवाए थे, ये उसका बदला लेने का समय है। 26 तारीख को कोटा में मोरया बोलना चाहिए। राजस्थान में 25 सीटों में से कोटा में सबसे बड़ी जीत होगी। ऐसा धुआंधार प्रचार करो कि सामने वाला टिक नहीं पाए। आज कोटा में जलवा देखने को मिला है। मोदी जी 70 साल का हिसाब मांगते है,लेकिन खुद के 10 साल का हिसाब नहीं देते।

गुंजल और धारीवाल के बीच हुए विवाद को लेकर क्या बोले डोटासरा

शुक्रवार को कांग्रेस कार्यालय में गुंजल व धारीवाल (Rajasthan News) के बीच हुई अदावत पर बोलते हुए डोटासरा ने कहा छोड़ों कल की बातें, कल की बात पुरानी। ये घर की बात थी, काफी बरसों से एक दूसरे के खिलाफ लड़ते आए हैं, राजनीति में अपनी-अपनी पार्टी के हिसाब से सब व्यक्ति बात करते हैं। उन्होंने भी की होगी, इन्होंने भी की होगी। लेकिन कल छोटे भाई व बड़े भाई का मिलन हो गया। हम सब आज साथ हैं। और अब साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे।