H

यहां चलता टाटा का सिक्का, कहीं नहीं टिकते अंबानी और अडानी

By: Sanjay Purohit | Created At: 28 June 2024 10:41 AM


भले ही इंडियन और ग्लोबल रिच लिस्ट में टाटा का नाम ना हो, उसके बाद भी ना सिर्फ भारत, एशिया बल्कि पूरी दुनिया में उनका कद कई हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्स से काफी ऊपर है. टाटा के आगे कई नाम अपने आप धराशाई हो जाते हैं. आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर टाटा का सिक्का कहां चलता है?

bannerAds Img
भले ही रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की सबसे बड़ी कंपनी हो, उनके चेयरमैन एशिया के सबसे अमीर कारोबारी हों. दूसरी ओर गौतम अडानी भले ही अपने पैर देश के हर सेक्टर में पसार रहे हों और एशिया के दूसरे सबसे अमीर कारोबारी हों, लेकिन एक जगह ऐसी भी जहां पर टाटा के सामने उनके ग्रुप कहीं नहीं ठहरते हैं. यहां जगह पर टाटा का सिक्का चलता है. ये मामला है ब्रांड का. टाटा ग्रुप ने भारत के सबसे मूल्यवान ब्रांड के रूप में अपना स्थान बरकरार रखा है. वहीं दूसरी ओर इन्फोसिस और एचडीएफसी ग्रुप देश में दूसरे और तीसरे नंबर के ब्रांड हैं. आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर ऐसी कौन सी रिपोर्ट आई है, जिसमें टाटा ग्रुप का दमखम साफतौर पर देखने को मिल रहा है.

टाटा नंबर वन, इंफोसिस दूसरे नंबर पर

ब्रांड वैल्यूएशन एडवाइजर ब्रांड फाइनेंस की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, विविध कारोबार क्षेत्रों में सक्रिय टाटा ग्रुप की ब्रांड वैल्यू 9 फीसदी के इजाफे के साथ 28.6 अरब डॉलर हो गई है. एक बयान के मुताबिक, टाटा ग्रुप ऐसा पहला इंडियन ब्रांड है जो 30 अरब डॉलर का ब्रांड वैल्यूएशन हासिल करने के करीब पहुंच रहा है. जबकि दूसरे नंबर पर देश की बड़ी आईटी कंपनी में से एक इंफोसिस का है. जिसकी ग्रोथ में भी 9 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है. ग्लोबल आईटी सर्विस सेक्टर में मंदी के बावजूद इस कंपनी की ब्रांड वैल्यू 14.2 अरब डॉलर आंकी गई है. जोकि काफी लाजवाब है.

एचडीएफसी ग्रुप भी काफी मजबूत

एचडीएफसी ग्रुप की बात करें तो इस लिस्ट में वो तीसरे नंबर है. जोकि काफी चौकाने वाला है. रिपोर्ट के अनुसार एचडीएफसी ग्रुप की वैल्यूएशन को 10.4 अरब डॉलर पर आंका गया है. जिसकी वजह से यह देश का तीसरा सबसे बड़ा ब्रांड बन गया है. पिछले साल हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी लिमिटेड के साथ मर्जर के बाद एचडीएफसी को काफी मजबूती मिली है. रिपोर्ट के मुताबिक, देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक की ब्रांड वैल्यू की ग्रोथ में 10 अंकों में इजाफा देखने को मिला है. वहीं दूसरी ओर इस फेहरिस्त में इंडियन बैंक, इंडसइंड बैंक और यूनियन बैंक सबसे आगे नजर आ रहे हैं.