H

'दुखी हूं, कोई भी उपद्रवी...', हाथरस भगदड़ पर बाबा सूरजपाल का पहला बयान

By: Ramakant Shukla | Created At: 06 July 2024 03:58 AM


हाथरस हादसे को लेकर बाबा सूरजपाल ने कहा है कि वह इस घटना से बहुत ज्यादा दुखी है। सूरजपाल का कहना है कि लोगों को प्रशासन पर विश्वास रखना चाहिए। किसी भी उपद्रवी को बख्शा नहीं जाएगा। बाबा ने कहा कि दुख की इस घड़ी में प्रभु लोगों को इससे उबरने की शक्ति दें। सूरजपाल को उनके अनुयायी 'भोले बाबा' के तौर पर जानते हैं। हाथरस में सत्संग के दौरान मची भगदड़ के बाद पहली बार सूरजपाल का बयान सामने आया है।

bannerAds Img
हाथरस हादसे को लेकर बाबा सूरजपाल ने कहा है कि वह इस घटना से बहुत ज्यादा दुखी है। सूरजपाल का कहना है कि लोगों को प्रशासन पर विश्वास रखना चाहिए। किसी भी उपद्रवी को बख्शा नहीं जाएगा। बाबा ने कहा कि दुख की इस घड़ी में प्रभु लोगों को इससे उबरने की शक्ति दें। सूरजपाल को उनके अनुयायी 'भोले बाबा' के तौर पर जानते हैं। हाथरस में सत्संग के दौरान मची भगदड़ के बाद पहली बार सूरजपाल का बयान सामने आया है। सूरजपाल ने कहा है कि 2 जुलाई की घटना के बाद मैं बहुत दुखी हूं। मुझे विश्वास है कि अराजकता फैलाने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा. बाबा ने आगे कहा कि मैंने अपने वकील एपी सिंह के माध्यम से समिति के सदस्यों से शोक संतप्त परिवारों और घायलों के साथ खड़े रहने और जीवन भर उनकी मदद करने का अनुरोध किया है. हाथरस हादसे में 121 लोगों की मौत हुई है। हाथरस हादसे को लेकर बात करते हुए बाबा सूरजपाल ने कहा, "हम 2 जुलाई को हुई घटना के बाद बहुत ही व्यथित हैं. प्रभु हमें और संगत को इस दुख की घड़ी से उबरने की शक्ति दें. सभी शासन एवं प्रशासन पर भरोसा बनाए रखें. हमें विश्वास है कि जो भी उपद्रवकारी हैं, वे बख्शे नहीं जाएंगे।

हाथरस हादसे के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

हाथरस में सत्संग के बाद मची भगदड़ मामले के मुख्य आरोपी देवप्रकाश मधुकर ने दिल्ली में सरेंडर कर दिया है. पुलिस ने उसे हिरासत में भी ले लिया है. हाथरस के फुलरई गांव में सत्संग में मची भगदड़ में मुख्य सेवादार मधुकर के ऊपर एफआईआर दर्ज की गई थी. हादसे के बाद यूपी पुलिस ने मधुकर की गिरफ्तारी के लिए मदद करने वाले को एक लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी. इस मामले में अब तक छह लोगों की गिरफ्तारी हुई है.