H

अंतिरक्ष में बोइंग स्पेसक्राफ्ट में लग सकती आग ! खतरे में सुनीता विलियम्स की जान

By: Sanjay Purohit | Created At: 01 July 2024 10:06 AM


भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स 5 जून को ‘स्टारलाइनर’ स्पेसक्राफ्ट के जरिए स्पेस मिशन के लिए रवाना हुई थीं। उनके साथ एक और अंतरिक्ष यात्री बुश विलमोर भी थे, जो मिशन कमांडर हैं।अंतिरक्ष में भी बोइंग स्पेसक्राफ्ट ने धोखा दे दिया है।

bannerAds Img
भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स 5 जून को ‘स्टारलाइनर’ स्पेसक्राफ्ट के जरिए स्पेस मिशन के लिए रवाना हुई थीं। उनके साथ एक और अंतरिक्ष यात्री बुश विलमोर भी थे, जो मिशन कमांडर हैं। दोनों को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर करीब 8 दिन का वक्त बिताकर वापस लौटना था लेकिन अब तक दोनों की वापसी नहीं हो सकी है। वजह है अंतिरक्ष में भी बोइंग स्पेसक्राफ्ट ने धोखा दे दिया है। इस कारण सुनीता विलियम्स की सुरक्षित वापसी को लेकर दुआएं मांगी जा रही हैं। सुनीता विलियम्स जिस स्पेसक्राफ्ट के जरिए इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन तक पहुंचीं, उसे अमेरिकी एयरक्राफ्ट कंपनी बोइंग ने डेवलप किया है जिसको ‘स्टारलाइनर’ नाम दिया है।

कंपनी इसको ‘स्पेस कैप्सूल’ भी कहती है। बोइंग ने अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) के कॉमर्शियल स्पेस प्रोग्राम के लिए इस स्पेसक्राफ्ट को डेवलप किया। एक तरीके से ‘स्टारलाइनर’ नासा और बोइंग के ज्वाइंट कोऑपरेशन में डेवलप हुआ है।5 जून को स्टारलाइनर का पहला मानव युक्त ट्रायल किया गया और सुनीता विलियम्स बुश विलमोर के साथ इस स्पेसक्राफ्ट से ISS के लिए रवाना हुईं।हालांकि जब स्टारलाइनर को लॉन्च किया जा रहा था, तभी इसमें से हिलियम गैस लीक हो रही थी। एक रिपोर्ट के मुताबिक बोइंग के इंजीनियर्स को लॉन्चिंग के दौरान गैस लीक के बारे में पता था, पर तब उन्हें नहीं लगा कि यह कोई बड़ी समस्या है पर यात्रा के दौरान स्पेसक्राफ्ट में 4 और जगह से हिलियम गैस का रिसाव होने लगा।