H

खड़गे के तानाशाही वाले आरोप पर सुधांशु त्रिवेदी का पलटवार, कहा - लोकतंत्र नहीं, वंशवादी राजनीति खत्म होने जा रही है

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 31 January 2024 10:25 AM


सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि, खड़गे जी, यह सच है कि, भारतीय राजनीति में कई चीजों पर चर्चा हो रही है। राजवंशों की शक्ति 1947 में समाप्त हो गई, अब लोकतंत्र की आड़ में लोकतांत्रिक राजवंशों की शक्ति को चुनौती दी जा रही है।

banner
मल्लिकार्जुन खड़गे की टिप्पणी पर कड़ा पलटवार करते हुए बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि, लोकतंत्र की आड़ में वंशवादी राजनीति अब ग्रहण की तरफ लग रही है और सच्चे लोकतंत्र का वास्तविक उदय होने वाला है। आपको बता दें कि, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने दावा किया था कि, ने कहा था कि, अगर लोकसभा चुनाव के बाद मोदी सत्ता में आए तो तानाशाही होगी, कोई लोकतंत्र नहीं होगा और कोई चुनाव नहीं होगा।

सच्चे लोकतंत्र का वास्तविक उदय होने वाला है

वहीं भाजपा के सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि, खड़गे जी, यह सच है कि, भारतीय राजनीति में कई चीजों पर चर्चा हो रही है। राजवंशों की शक्ति 1947 में समाप्त हो गई, अब लोकतंत्र की आड़ में लोकतांत्रिक राजवंशों की शक्ति को चुनौती दी जा रही है और वे सोच रहे हैं कि, आगामी चुनाव के बाद उनका भविष्य क्या होगा। खड़गे जो कुछ भी कह रहे हैं, उसका वास्तविक अर्थ यह है कि, लोकतंत्र की आड़ में वंशवादी राजनीति जिसे पिछले चुनाव में मतदाता ने खारिज कर दिया था, अब उस पर ग्रहण लगता दिख रहा है और सच्चे लोकतंत्र का वास्तविक उदय होने वाला है। जिसमें भारत के सभी युवा और सभी मतदाता एक साथ आ रहे हैं।

जनता ने उन्हें नकारा है

बीजेपी सांसद ने कहा कि, उत्तर से दक्षिण तक देखें तो 2019 के लोकसभा चुनाव में देश की प्रबुद्ध जनता ने उन लोगों की आलोचना की, जो अधिकारों के आधार पर लोकतंत्र के नाम पर राजशाही चला रहे थे। त्रिवेदी ने कहा कि, चाहे वह कश्मीर में अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार हार गया हो, पंजाब में बादल परिवार, हरियाणा में हुड्डा परिवार या सबसे बड़े नेता राहुल गांधी, ये सब चुनाव हारे हैं, जनता ने उन्हें नकारा है।