H

New Rule: 1 जुलाई से बदलने जा रहे ये नियम, जानें किन-किन चीजों में बदलाव के संकेत?

By: payal trivedi | Created At: 26 June 2024 05:00 AM


जून का महीना खत्म होने वाला है और अगले हफ्ते से जुलाई का महीना शुरू हो जाएगा। वैसे तो आईटीआर और आम बजट की वजह से यह महीना जरूरी है।

bannerAds Img
New Delhi: जून का महीना खत्म होने वाला है और अगले हफ्ते से जुलाई का महीना शुरू हो जाएगा। वैसे तो आईटीआर और आम बजट की वजह से यह महीना जरूरी है। लेकिन, 1 जुलाई से कई वित्तीय नियम बदल जाएंगे। आपको बता दें कि हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर के दाम अपडेट होते हैं। इसके अलावा सीएनजी और पीएनजी के भी रेट रिवाइज होते हैं। आइए, जानते हैं कि 1 जुलाई 2024 से कौन-से वित्तीय नियम बदलने वाले हैं।

LPG सिलेंडर की कीमत

हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर के दाम अपडेट होते हैं। 1 मई को तेल कंपनियों ने कमर्शियल सिलेंडर के दाम में कटौती की थी। अब देखना होगा कि 1 जुलाई को सिलेंडर के दाम में कटौती होती है या फिर इजाफा।

इंडियन बैंक स्पेशल एफडी

इंडियन बैंक अपने ग्राहकों के लिए स्पेशल एफडी चला रहा है। यह एफडी का टेन्योर 300 और 400 दिन का है। इंडियन बैंक की अधिकारिक वेबसाइट के अनुसार इस एफडी का नाम इंड सुपर 400 और इंड सुप्रीम 300 दिन है। इस एफडी में निवेश करने की आखिरी तारीख 30 जून 2024 है। आपको बता दें कि यह एक कॉलेबल एफडी है यानी इसमें आप जब चाहें तब पैसे निकाल सकते हैं। इस एफडी में आम जनता को 7.25 फीसदी, सीनियर सिटिजन को 7.75 फीसदी और सुपर सीनियर सिटिजन को 8.00 प्रतिशत का ब्याज मिलता है।

पंजाब एंड सिंध बैंक की स्पेशल एफडी

पंजाब एंड सिंध बैंक की स्पेशल एफडी स्कीम में निवेश करने की आखिरी तारीख 30 जून 2024 है। इस एफडी का टेन्योर 222 दिन, 333 दिन और 444 दिन है। इस एफडी में अधिकतम .05 फीसदी का ब्याज मिलता है।

क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट को लेकर नया नियम जारी किया है। यह नियम 1 जुलाई 2024 से लागू होगा। नए नियम के अनुसार क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट के प्रोसेस में बदलाव होगा। इस बदलाव का सीधा असर फोनपे, क्रेड, बिलडेस्क और इंफीबीम एवेन्यूज जैसे फिनटेक प्लेटफॉर्म पर पड़ेगा। आरबीआई ने सभी बैंकों को आदेश दिया है कि 1 जुलाई 2024 से सभी क्रेडिट कार्ड की पेमेंट भारत बिल पेमेंट प्रणाली (BBPS) के माध्यम से की जानी चाहिए।