H

एमपी में बदला हवा का रुख, दिन और रात के तापमान में रिकॉर्ड हुई बढ़ोतरी

By: TISHA GUPTA | Created At: 29 January 2024 11:38 AM


मध्य प्रदेश के मौसम में एक बार फिर से बदलाव देखा जा रहा है। बीते कुछ दिनों से पड़ रही कड़ाके की सर्दी से अब कुछ राहत मिली है। दिन के साथ रात के तापमान में भी इजाफा हुआ है। मौसम विभाग का अनुमान है कि आगामी दो दिन तक मौसम मिजाज ऐसा ही बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण प्रदेश में हवा का रुख बदल गया है। इससे दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

banner
मध्य प्रदेश के मौसम में एक बार फिर से बदलाव देखा जा रहा है। बीते कुछ दिनों से पड़ रही कड़ाके की सर्दी से अब कुछ राहत मिली है। दिन के साथ रात के तापमान में भी इजाफा हुआ है। मौसम विभाग का अनुमान है कि आगामी दो दिन तक मौसम मिजाज ऐसा ही बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण प्रदेश में हवा का रुख बदल गया है। इससे दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

रात के तापमान में भी हुई बढ़ोतरी

वहीं रविवार (28 जनवरी) को भोपाल, इंदौर, उज्जैन सहित प्रदेश के 13 शहरों में अधिकतम तापमान 28 डिग्री के पार रहा। 10 शहरों में रात का तापमान भी 10 डिग्री से अधिक रहा। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले दो दिन तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिन बाद कड़ाके की सर्दी पड़ने के आसार हैं।

पचमढ़ी सबसे ठंडा और खंडवा रहा सबसे गर्म

रविवार को प्रदेश में पचमढ़ी सबसे ठंडा, जबकि खंडवा गर्म रहा। पचमढ़ी का अधिकतम तापमान 24 डिग्री दर्ज किया गया, तो वहीं खंडवा का पारा 30.5 डिग्री रहा। वहीं इंदौर का अधिकतम तापमान 29.4 डिग्री, भोपाल 28.3, जबलपुर 27.6 डिग्री और उज्जैन का अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री दर्ज किया गया।

प्रदेश के कुछ जिलों में आज बूंदा-बांदी के आसार

इधर रायसेन, मलाजखंड, नौगांव, छिंदवाड़ा, शिवपुरी, सतना, खजुराहो, सीधी, सागर और गुना में भी अधिकतम तापमान 28 डिग्री रहा। सिवनी, टीकमगढ़, नर्मदापुरम, उमरिया, बैतूल, मंडला, धार, खरगोन, दमोह, रतलाम और खंडवा का अधिकतम पारा भी 27 से 30.5 डिग्री सेल्सियस तक रहा। बता दें ग्वालियर-छतरपुर जिले कड़ाके की ठंड की वजह से लगातार ठिठुर रहे थे और लंबे समय से मध्य प्रदेश के सबसे ठंडे इलाके बने हुए थे। वहीं इससे पहले मौसम विभाग ने आज (29 जनवरी) को प्रदेश के कुछ जिलो में बूंदाबांदी के आसार जाताए थे।

Read More: नीतीश कुमार की कथनी और करनी में बड़ा अंतर, कैसे नेता हैं- दिग्विजय सिंह