H

MP Weather Update: एमपी में प्री मानसून का दौर जारी, भोपाल-उज्जैन समेत इन जिलों में गिरा पानी, जानें प्रदेश में कब एंट्री लेगा मानसून?

By: payal trivedi | Created At: 21 June 2024 05:11 AM


मध्यप्रदेश में प्री मानसून की एक्टिविटी जारी है। शुक्रवार सुबह सीहोर में दो घंटे में 4 इंच से ज्यादा बारिश हुई। यहां सीवन नदी में पानी का बहाव तेज हो गया।

bannerAds Img
Bhopal: मध्यप्रदेश में प्री मानसून की एक्टिविटी जारी है। शुक्रवार सुबह सीहोर में दो घंटे में 4 इंच से ज्यादा बारिश हुई। यहां सीवन नदी में पानी का बहाव तेज हो गया। कल तक ये नदी सूखी थी। भोपाल, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर और रायसेन में देर रात से रुक-रुककर बारिश हो रही है। इंदौर में बादल और तेज हवा चल रही है। मध्यप्रदेश में मानसून अब दो से तीन दिन में एंटर हो सकता है। कई दिन से ठहरा मानसून अब आगे बढ़ गया है। रफ्तार ज्यादा रही, तो जल्द भी आ सकता है। गुरुवार को मानसून छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र के कई हिस्सों में पहुंचा। अभी प्री मानसून एक्टिविटी जारी है। IMD, भोपाल की सीनियर वैज्ञानिक डॉ. दिव्या ई. सुरेंद्रन ने बताया, 'प्रदेश के दक्षिणी हिस्से से मानसून प्रदेश में एंटर होगा। इनमें बालाघाट, बुरहानपुर, पांढुर्णा-बैतूल समेत दक्षिणी जिले शामिल हैं।' गुरुवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून में एक्टिविटी देखने को मिली। यह 10 जून से एक जगह ठहरा था। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी की ब्रांच के एक्टिव नहीं होने से ऐसा हो रहा था। इस कारण मध्यप्रदेश में अब तक मानसून नहीं पहुंचा है, जबकि मानसून के आने की सामान्य तारीख 15 जून है।

मानसून से पहले आंधी, बारिश, गरज-चमक

डॉ. सुरेंद्रन ने बताया, 'वर्तमान में वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव है। इस वजह से प्रदेश में तेज आंधी, बारिश हो रही है। अगले कुछ दिन तक ऐसा ही दौर रहेगा। शुक्रवार को जबलपुर, विदिशा, हरदा, बैतूल, पांढुर्णा, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, डिंडोरी, अनूपपुर, शहडोल, उमरिया, कटनी में तेज आंधी चलेगी और गरज-चमक की स्थिति बनी रहेगी। अन्य जिलों में भी गरज-चमक और आंधी चलेगी।

कई जिलों में गर्मी का असर भी रहा

गुरुवार शाम भोपाल समेत कई जिलों में बारिश हुई। वहीं, गरज-चमक की स्थिति रही। इससे पहले, कई जगहों पर गर्मी का असर भी देखने को मिला। सतना का चित्रकूट सबसे गर्म रहा। यहां दिन का टेम्प्रेचर 43.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश के टॉप-10 सबसे गर्म शहरों में खजुराहो, ग्वालियर, सीधी, नौगांव, शिवपुरी, कटनी, छतरपुर का बिजावर, सागर और नर्मदापुरम रहे। खजुराहो में 41.6 डिग्री, ग्वालियर में 41.4 डिग्री, सीधी में 40.2 डिग्री, नौगांव में 41.4, शिवपुरी में 40 डिग्री, कटनी में 39.6 डिग्री, बिजावर में 39.5 डिग्री और सागर में 39.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मानसून आने के बाद किसानों को यह सलाह

- मानसून के आने के बाद जून के आखिरी या जुलाई के दूसरे सप्ताह तक का समय बोवनी के लिए उपयुक्त है। जब 4 इंच बारिश हो जाए तो किसान बोवनी कर सकते हैं।

- पर्याप्त बारिश होने या फिर सिंचाई की सुविधा होने पर 23 जून के बाद धान की नर्सरी के लिए किसान खेत तैयार कर लें।

- कपास या सोयाबीन की बोवनी मानसून आने के पश्‍चात भूमि में पर्याप्‍त नमी होने पर ही करें।

- अरहर की बुवाई के लिए खेत की तैयारी करें। जिन किसानों के पास सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो, वे हरी खाद के लिए मक्का या ढैंचा की बोवनी करें।