H

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव आज रहेंगे इंदौर दौरे पर, विश्व वेटलैंड दिवस के कार्यक्रम में होंगे शामिल

By: Richa Gupta | Created At: 02 February 2024 09:14 AM


मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव सुबह 10 बजे स्टेट हैंगर भोपाल से रवाना हो कर इंदौर पहुंचेंगे। वहीं सुबह 11 बजे सिरपुर में विश्व आर्द्रभूमि दिवस (डब्ल्यूडब्ल्यूडी)- 2024 कार्यक्रम में शामिल होंगे।

banner
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव सुबह 10 बजे स्टेट हैंगर भोपाल से रवाना हो कर इंदौर पहुंचेंगे। वहीं सुबह 11 बजे सिरपुर में विश्व आर्द्रभूमि दिवस (डब्ल्यूडब्ल्यूडी)- 2024 कार्यक्रम में शामिल होंगे। बतादें कि, वर्ष 2024 का विषय आर्द्रभूमि और मानव कल्याण रक्षा रखा गया है। वहीं दोपहर 1:30 बजे सीएम मोहन यादव इंदौर नगर निगम परिसर हॉल का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद एयरपोर्ट इंदौर से रवाना हो दोपहर 2:50 बजे स्टेट हैंगर भोपाल आएंगे। वहीं शाम 4:45 बजे बजट के संबध में चर्चा करेंगे। इसके बाद प्रमुख सचिव, वाणिज्यिक कर से शाम 5:15 बजे चर्चा करेंगे।

मंत्री कैलाश विजयवर्गीय होंगे शामिल

बता दें कि 2 फरवरी को विश्व वेटलैंड दिवस के अवसर पर इंदौर के सिरपुर तालाब पर अंतरराष्ट्रीय आयोजन होने जा रहा है। इसमें देशभर की 75 से ज्यादा रामसर साइट के प्रतिनिधियों के साथ-साथ मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव, नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, रामसर कंवेंशन आन वेटलैंड के सचिव डॉ मसुंडा मुंबा शामिल होंगे।

विश्व वेटलैंड दिवस का महत्व

हर साल 2 फरवरी को विश्व वेटलैंड दिवस मनाया जाता है। विश्व में कई स्थान पर वेटलैंड रामसर साइट्स घोषित की गई हैं। इनमें से इंदौर के सिरपुर तालाब और यशवंत सागर तालाब को भी रामसर साइट घोषित किया गया था। वेटलैंड कोई भी हिस्सा हो सकता है, ये तालाब का किनारा भी हो सकता है और नदी और समुद्र का किनारा भी। ऐसी जमीन जो साल भर या साल भर के ज्यादातर समय पानी से भरी रहती हो, वेटलैंड कहलाती है। वेटलैंड इसलिए जरूरी है क्योंकि यह पानी के प्रदूषण को कम करता है और जीव जंतुओं और पौधों को भी विकसित करने में मदद करता है। 2 फरवरी को वेटलैंड डे मनाए जाने का मकसद यही है कि दुनिया में वेटलैंड की अहमियत को समझा जा सके और बचे हुए वेटलैंड को सहेज कर रखा जा सके क्योंकि ये दुनिया के लिए काफी जरूरी है।