H

NEET UG 2024 में गड़बड़ी पर पूर्व सीएम भूपेश बोले- हजारों करोड़ का महा घोटाला, 10 साल में 70 पेपर हुए लीक

By: payal trivedi | Created At: 21 June 2024 08:55 AM


NEET UG-2024 रिजल्ट में गड़बड़ी के विरोध में छत्तीसगढ़ कांग्रेस रायपुर के सुभाष स्टेडियम के सामने राजीव गांधी चौक पर धरना दे रही है।

bannerAds Img
Raipur: NEET UG-2024 रिजल्ट में गड़बड़ी के विरोध में छत्तीसगढ़ कांग्रेस रायपुर के सुभाष स्टेडियम के सामने राजीव गांधी चौक पर धरना दे रही है। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि ये छोटा-मोटा घोटाला नहीं है, हजारों करोड़ का घोटाला है। प्रदर्शन में भूपेश बघेल, पूर्व गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू समेत सैकड़ों नेता कार्यकर्ता मौजूद हैं। बघेल ने कहा कि 10 साल में 70 पेपर लीक हुए हैं। ये पेपर लीक का मामला नहीं है, ये महा घोटाला है। खरीदने वाले ने 32 लाख में खरीदकर 40 लाख में बेचा। लाखों छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया गया है। ये रैकेट गुजरात से संचालित हो रहा है। बिहार और हरियाणा में चल रहा है। इसमें कोई छोटे-मोटे आदमी नहीं हैं, बड़े लोग शामिल हैं, जिसे छिपाया जा रहा है।

वर्तमान शिक्षा मंत्री की जगह जेल में होगी

भूपेश बघेल ने कहा कि MP में व्यापम घोटाले में 70 लोगों की हत्याएं हुई। ठीक से जांच हुई तो वर्तमान शिक्षा मंत्री की जगह जेल में होगी। यह ऐसा घोटाला है, जिसमें बीस से तीस हजार छात्रों का सेंटर बदला है, जिसमें यही छात्र टॉप में आए हैं। इस बार 67 बच्चों ने टॉप किया है, जो छात्र टॉप में आए हैं, उन्हें माइनस मार्किंग से लेकर सबको पता है, मार्किंग में भी घोटाला हुआ है।

भूपेश बोले- प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं

बिहार में FIR हुई है, वहां चार लोग पकड़े गए, लेकिन केंद्र सरकार कहती है कोई घोटाला नहीं, ना जांच ना जानकारी। इस पूरे मामले को दबाने जांच अधिकारी को दिल्ली तलब किया गया है। प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं। परीक्षा के पहले और बाद में मन की बात करते हैं, जब बच्चों के भविष्य का सवाल है तो चुप्पी क्यों।

यूनिवर्सिटी में बीजेपी अपने लोगों को बैठा रही- भूपेश बघेल

भूपेश बघेल ने कहा कि देशभर के यूनिवर्सिटी में जो जिम्मेदार लोगों को बैठाया जा रहा है, वह सभी एक ही विचारधारा के हैं। बीजेपी अपने लोगों को बैठा रही, फिर सवाल इस बात को लेकर है कि जांच क्यों नहीं। बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, जो बच्चा 12वीं में फेल वो मेरिट में टॉप कर रहा है, धर्मेंद्र प्रधान को बर्खास्त किया जाए।

छत्तीसगढ़ के बीजेपी के नेता मौन क्यों

बिहार में FIR हुई फिर इसकी ED, CBI से जांच क्यों नहीं करा रहे। आज छत्तीसगढ़ के बीजेपी के नेता मौन क्यों हैं। छात्रों के लिए बोल क्यों नहीं रहे, यह परीक्षा चाहे छत्तीसगढ़ के माध्यम से या लोकसभा के माध्यम से रद्द होनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को NEET UG-2024 रिजल्ट को चुनौती देने वाली 4 याचिकाओं पर सुनवाई हुई। इनमें 3 मांगें की गई हैं। - परीक्षा में शामिल 1563 स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स दिए गए, जो गलत है।

- मौजूदा रिजल्ट के बेस पर हो रही काउंसिलिंग को रोका जाए।

- NEET परीक्षा रद्द की जाए और एग्जाम दोबारा कराया जाए।

20 हजार स्‍टूडेंट्स ने याचिका लगाई है

देशभर में NEET UG 2024 को लेकर अलग-अलग राज्यों में लगभग 20 हजार स्टूडेंट्स ने परीक्षा में गड़बड़ी के खिलाफ याचिकाएं दायर की हैं। ग्रेस मार्क्स के खिलाफ दायर की गई याचिका में कहा गया कि NTA ने अब तक ये नहीं बताया कि उन्होंने स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स देने के लिए क्या तरीका अपनाया। वहीं, एग्जाम के पहले NTA की तरफ से जारी इन्फॉर्मेशन बुलेटिन में भी ग्रेस मार्क्स देने के प्रावधान का जिक्र नहीं था। ऐसे में कुछ कैंडिडेट्स को ग्रेस मार्क्स देना सही नहीं है।

इस साल 24 लाख कैंडिडेट्स ने दिया था एग्जाम

NEET UG यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्‍ट, अंडरग्रेजुएट राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। NEET मेडिकल और डेंटल कोर्सेज में एडमिशन के लिए आयोजित की जाती है। इस साल लगभग 24 लाख स्टूडेंट्स ने ये एग्जाम दिया था। इसके जरिए भारत और रूस, यूक्रेन समेत कुछ अन्‍य देशों में MBBS, BDS और दूसरे मेडिकल कोर्सेज में एडमिशन मिलता है।

44 स्टूडेंट्स को मिले 5 बोनस मार्क्स, स्कोर पहुंचा 720/720

इस वजह से NTA ने उन सभी स्टूडेंट्स को 5 नंबर दिए, जिन्होंने दोनों में से किसी भी स्टेटमेंट को मार्क किया था। NTA के एक सीनियर ऑफिसर ने कहा कि इस वजह से कम से कम 44 स्टूडेंट्स जो 715 स्कोर कर रहे थे, उनके 5 मार्क्स बढ़ाकर 720 कर दिए गए।

2019 के बाद NEET UG में कभी नहीं आए 3 से ज्यादा टॉपर्स

2019 से किसी भी साल NEET UG एग्जाम में तीन से ज्यादा स्टूडेंट्स टॉपर नहीं बने हैं। 2019 और 2020 में हर साल सिर्फ एक स्टूडेंट ने एग्जाम में टॉप किया। जबकि 2021 में तीन स्टूडेंट्स, 2022 में एक और 2023 में दो स्टूडेंट्स ने टॉप किया। NEET UG देश के मेडिकल कॉलेजों में MBBS कोर्सेज में एडमिशन के लिए होने वाला एक मात्र एंट्रेंस एग्जाम है।