H

नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह का सिंधिया पर तंज, कहा - भाजपा में जाकर कैटरिंग का काम कर रहे 'महाराज'

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 13 September 2023 08:10 AM


कांग्रेस नेता डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि, बीजेपी में कार्यकर्ता को बचपन से ही झूठ बोलने की ट्रेनिंग दी जाती है। झूठ बोलकर ही भाजपा सत्ता में आए हैं।

bannerAds Img
एमपी कांग्रेस के सीनियर नेता डॉ. गोविंद सिंह ने बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर हमला बोला है। गोविंद सिंह ने कहा कि, कांग्रेस के नाम पर सिंधिया की राजनीति चल रही थी। कांग्रेस पार्टी में सिंधिया महाराज बनकर काम करते थे। वहीं अब बीजेपी में कैटरिंग का काम करते हैं।

बीजेपी में सिंधिया कैटरिंग का काम कर रहे हैं

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, जब भी अमित शाह आते हैं तो सिंधिया को खाना परोसने का काम दिया जाता है। कांग्रेस में रहते हुए सिंधिया बड़े नेताओं के बगल में बैठकर भोजन करते थे, लेकिन बीजेपी में जाने के बाद सिंधिया कैटरिंग का काम कर रहे हैं। आपको बता दें कि, एमपी के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि, पिछली बार ( विधानसभा चुनाव 2018) ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्योतिरादित्य सिंधिया के कारण ही कांग्रेस की ज्यादा सीट आई थी, लेकिन इस बार सिंधिया नहीं है, इसलिए चंबल संभाग में कांग्रेस को कम सीट मिलेगी।

गोविंद सिंह का सिंधिया पर तंज

नरोत्तम मिश्रा के बयान पर पलटवार करते हुए लहार से कांग्रेस विधायक व नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि, सिंधिया का इतिहास कौन नहीं जानता, 53 साल से सिंधिया ने कांग्रेस पर कब्जा कर के रखा था। सिंधिया के रहते ग्वालियर में सांसद बीजेपी का कैसे बना, मुरैना नगर निगम कैसे जीती, इस पर भी उन्होंने सवाल खड़े किए।गोविंद सिंह इस दौरान दावा करते हुए आगे कहा कि, मध्य प्रदेश की जनता पूरी तरह से परेशान है। ऐसा कोई वर्ग नहीं बचा है जो सरकार से पीड़ित न हो, जिसका शोषण नहीं किया गया हो।

बीजेपी झूठ बोलकर ही सत्ता में आए हैं

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि, बीजेपी में कार्यकर्ता को बचपन से ही झूठ बोलने की ट्रेनिंग दी जाती है। झूठ बोलकर ही भाजपा सत्ता में आए हैं, लेकिन राज्य की जनता अब समझ गई है और आगामी चुनाव में शिवराज सिंह और देश से मोदी को हटाकर ही देश को सुरक्षित करेंगी। उन्होंने कहा कि, इस बार जनता में भाजपा के प्रति आक्रोश है। इस बार जनता का तूफान चलेगा जिसके परिणाम आगामी विधानसभा चुनाव में देखने को मिल सकते हैं।