H

'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' एक्टर Gurucharan Singh मुंबई पहुंचे, 25 दिन रहे थे लापता, जानें शो में वापसी को लेकर क्या कहा?

By: payal trivedi | Created At: 07 July 2024 06:38 AM


'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के फेम गुरुचरण सिंह पिछले काफी समय से सुर्खियों में बने हुए हैं। दो महीने यह खबर आई थी कि गुरुचरण दिल्ली एयरपोर्ट से अचानक गायब हो गए।

bannerAds Img
Mumbai: 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के फेम गुरुचरण सिंह पिछले काफी समय से सुर्खियों में बने हुए हैं। दो महीने यह खबर आई थी कि गुरुचरण दिल्ली एयरपोर्ट से अचानक गायब हो गए। इसके बाद उनके परिवार ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। हालांकि, 25 दिन के बाद एक्टर अपने घर पहुंचे थे। वहीं अब शनिवार 6 जुलाई को अभिनेता लापता होने के बाद पहली बार मुंबई लौटे। अभिनेता को अपने पालतू जानवर के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर स्पॉट हुए। इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद पैपराजी से भी बातचीत की।

मुंबई पहुंचे गुरुचरण सिंह

एक पैपराजी पेज ने गुरुचरण सिंह का वीडियो अपने इंस्टाग्राम पर साझा किया है, जिसमें अभिनेता अपने डॉगी के साथ एयरपोर्ट से बाहर निकलते नजर आ रहे हैं। ऐसे में वहां मौजूदा पैपराजी उन्हें घेर लेते हैं और कहते है कि सुना गया कि क्या तारक मेहता का उल्टा चश्मा की प्रोडक्शन टीम ने उनका बकाया भुगतान कर दिया है। गुरुचरण, “हां जी, सबका कर दिया लगभग, लगभग। कुछ का मुझे नहीं पता है, वो मुझे पूछना पड़ेगा।''

गुरुचरण ने शो में वापसी को लेकर कही ये बात

इस बीच एक पैपराजी ने पूछा कि क्या उन्हें फोन आते हैं। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि मेरे फोन बंद हैं। एक बार जब वह अपना फोन चालू करेंगे तो लोगों से बात करूंगा। उनसे यह भी पूछा गया कि क्या वह शो में वापस आएंगे। इस पर गुरुचरण ने कहा- “भगवान जाने। मुझे कुछ नहीं पता है। जैसा ही पता चलेगा, आपको बताऊंगा।

कहां चले गए थे गुरुचरण सिंह

गुरुचरण 22 अप्रैल को दिल्ली में लापता हो गए थे और लगभग एक महीने बाद अपने घर लौट आए। डीसीपी साउथ वेस्ट दिल्ली, रोहित मीना ने एक अपडेट दिया था और कहा था कि वह कुछ व्यक्तिगत और व्यावसायिक मुद्दों का सामना कर रहे थे, जिसके कारण वह "आध्यात्मिक यात्रा" पर चले गए। पुलिस ने कोर्ट में एक्टर का बयान दर्ज कराया है, जिसमें उन्होंने खुद कहा था कि वह घर से दूर धार्मिक यात्रा पर गये थे। इस दौरान उन्होंने अमृतसर, जालंधर समेत कई शहरों के गुरुद्वारे में मत्था टेका था।