H

Rajasthan News: JNVU के कुलपति ने वापस लिया इस्तीफा, ABVP ने कहा- ये राजभवन के प्रोटोकॉल का अपमान

By: payal trivedi | Created At: 13 February 2024 11:21 AM


जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी (JNVU) में कुलपति केएल श्रीवास्तव ने दो दिन पहले पहले दिया अपना इस्तीफा वापस ले लिया है।

banner
Jaipur: जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी (JNVU) में कुलपति केएल श्रीवास्तव (Rajasthan News) ने दो दिन पहले पहले दिया अपना इस्तीफा वापस ले लिया है। उन्होंने शनिवार को एबीवीपी प्रदर्शन के दौरान समझाइश न होने पर इस्तीफा लिख दिया था लेकिन राजभवन नहीं भेजा। उन्होंने सोमवार को अपने कार्यालय में वापस ज्वाइन कर लिया। इस पर एबीवीपी ने कुलपति पर राजभवन के अपमान का आरोप लगाया। वहीं एनएसयूआई ने एबीवीपी पर अमर्यादित व्यवहार का आरोप लगाते हुए कुलसचिव को ज्ञापन दिया।

ABVP के छात्रों ने कुलपति का किया था घेराव

बता दें कि 10 फरवरी को JNVU में एबीवीपी ने विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन किया था। इस दौरान छात्रों ने कुलपति का घेराव भी किया था। समझाइश नहीं होने पर कुलपति ने पीए से कागज मंगाकर राजभवन के नाम इस्तीफा लिखा था। इस्तीफे के बाद वे सरकारी गाड़ी छोड़कर अन्य गाड़ी से विश्वविद्यालय से रवाना हुए थे।

85 सूत्रीय मांगों को लेकर कर रहे थे प्रदर्शन

कुलपति के इस्तीफा वापस लेने पर सोमवार को एबीवीपी (Rajasthan News) ने कहा कि उनका प्रदर्शन कुलपति से इस्तीफा मांगना नहीं था। वे अपनी 85 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। इसके बाद कुलपति ने इस्तीफा देने का नाटक किया। ये एक पॉलिटिकल स्टंट था। एबीवीपी का कहना है कि उन्होंने इस्तीफा दिया तो राजभवन क्यों नहीं भेजा। वे राजभवन के प्रोटोकॉल के अपमान के लिए सभी से माफी मांगे। बता दें कि कुलपति के इस्तीफा देने की बाद एबीवीपी ने इसे छात्रों की जीत बताया था।

कुलपति के साथ मर्यादित व्यवहार करने वालों पर कार्रवाई की मांग

यूनिवर्सिटी में शनिवार को हुए घटनाक्रम के विरोध में सोमवार को एनएसयूआई ने प्रदर्शन कर कुलसचिव को ज्ञापन दिया। कार्यकर्ताओं ने मनीष बिश्नोई के नेतृत्व में प्रदर्शन करते हुए कुल सचिव गोमती शर्मा से मिलकर यूनिवर्सिटी के कुलपति के साथ मर्यादित व्यवहार करने वालों के खिलाफ ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की। मनीष बिश्नोई ने बताया कि एबीवीपी कार्यकर्ताओं की ओर से विभिन्न मांगों को लेकर कुलपति से मिले लेकिन उन्होंने कुलपति के साथ अमर्यादित व्यवहार किया, इसलिए 3 दिन के अंदर कार्रवाई करने की मांग कुल सचिव के मार्फत राज्य सरकार से की गई है। इस दौरान छात्र नेता अक्षय दिवराया, ऋषि गहलोत, अभिषेक मेहता, नीतीश दाधीच, जुबेर खान, हेमराज, अतीक मोदी, ऋषि कछवाहा सहित कई छात्र मौजूद रहे।