H

कांग्रेस से निष्कासित किए जाने के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम की पहली प्रतिक्रिया, कहा- 'राम और राष्ट्र से समझौता नहीं'

By: Ramakant Shukla | Created At: 11 February 2024 10:29 AM


कांग्रेस ने अनुशासनहीनता के आरोप में शनिवार को आचार्य प्रमोद कृष्णम को पार्टी से निष्कासित कर दिया। कांग्रेस से निष्कासित किए जाने के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पहली प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि राम और “राष्ट्र” पर “समझौता” नहीं किया जा सकता।

banner
कांग्रेस ने अनुशासनहीनता के आरोप में शनिवार को आचार्य प्रमोद कृष्णम को पार्टी से निष्कासित कर दिया। कांग्रेस से निष्कासित किए जाने के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पहली प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि राम और “राष्ट्र” पर “समझौता” नहीं किया जा सकता। शनिवार को कांग्रेस द्वारा की गई कार्रवाई के बाद पूर्व कांग्रेस नेता अपने सोशल मीडिया के एक्स प्लेटफॉर्म पर पोस्ट कर प्रतिक्रिया दी है। इससे पहले कांग्रेस महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल ने एक बयान में कहा कि अनुशासनहीनता और बार-बार पार्टी विरोधी टिप्पणियों की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रमोद कृष्णम को तत्काल प्रभाव से छह साल की अवधि के लिए पार्टी से निष्कासित करने के उत्तरप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

पीएम मोदी से की थी मुलाकात

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर ''श्री कल्कि धाम” के शिलान्यास समारोह के लिए उन्हें आमंत्रित किया था। हालांकि बीते लंबे वक्त से वह अक्सर कांग्रेस की आधिकारिक लाइन से इतर अपने वक्तव्य के लिए जाने जाते हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के बाद उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी उन्होंने मुलाकात कर समारोह के लिए आमंत्रित किया था। वहीं राम मंदिर में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के दौरान भी प्रमोद कृष्णम के बयान काफी चर्चा में रहे थे। उनके ऊपर पार्टी लाइन से बाहर जाकर बयान देने का आरोप लगा था। पूर्व कांग्रेस नेता ने पार्टी हाईकमान से फैसले पर सवाल खड़े किए थे, जिसमें कांग्रेस ने प्राण प्रतिष्ठा समारोह में हिस्सा लेने से मना कर दिया था। इसके बाद प्रमोद कृष्णम ने पार्टी के इस फैसले की जमकर आलोचना की थी। तभी से उनके बागी होने की संभावना जताई जा रही थी।