H

रायबरेली सीट जीतने के लिए भाजपा का फॉर्मूला तैयार, इस बड़े चेहरे पर खेल सकती है दांव

By: Ramakant Shukla | Created At: 22 March 2024 04:07 PM


गांधी परिवार की परंपरागत सीट रही रायबरेली संसदीय सीट भाजपा के लिए हर चुनाव में चुनौती रही है। यहां इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी चुनाव लड़कर संसद पहुंच चुके हैं। तो वहीं सोनिया गांधी 2004 से लगातार इस सीट से जीतती रही हैं। 2014 और 2019 में मोदी लहर के बावजूद भाजपा कांग्रेस के इस किले को नहीं भेद सकी। अब चर्चा है भाजपा इस सीट पर गांधी नाम के सहारे माहौल को अपने पक्ष में करने की तैयारी में है।

banner
गांधी परिवार की परंपरागत सीट रही रायबरेली संसदीय सीट भाजपा के लिए हर चुनाव में चुनौती रही है। यहां इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी चुनाव लड़कर संसद पहुंच चुके हैं। तो वहीं सोनिया गांधी 2004 से लगातार इस सीट से जीतती रही हैं। 2014 और 2019 में मोदी लहर के बावजूद भाजपा कांग्रेस के इस किले को नहीं भेद सकी। अब चर्चा है भाजपा इस सीट पर गांधी नाम के सहारे माहौल को अपने पक्ष में करने की तैयारी में है। दरअसल, इस सीट पर गांधी परिवार बड़ा नाम रहा है। ऐसे में भाजपा यहां से वरुण गांधी को चुनाव लड़वाकर कांग्रेस का किला भेदने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस यहां से प्रियंका गांधी को चुनाव लड़वा सकती है, पार्टी के कई पदाधिकारी इसके पक्ष में हैं। ऐसे में वरुण गांधी को चुनावी मैदान में उतारकर यह मुकाबला गांधी बनाम गांधी बना सकती है।

मेनका गांधी को पीलीभीत से लड़ाने की चर्चा

इधर, मेनका गांधी को सुल्तानपुर के बजाय पीलीभीत से चुनाव लड़ाने की चर्चा है।इस सीट पर पिछले दो चुनावों में भाजपा को जीत मिली है। सुल्तानपुर में 2014 में वरुण गांधी और 2019 में मेनका गांधी ने जीत दर्ज की थी। वहीं अब पार्टी मेनका गांधी को पीलीभीत भेजकर सुल्तानपुर से स्थानीय चेहरे को मौका देने की तैयारी कर रही है। जिसमें पार्टी जिला अध्यक्ष सहित कई अन्य नाम चल रहे हैं।