H

CG NEWS : डॉ. महंत के विवादित बयान के बाद BJP ने शुरू किया पोस्टर वॉर…

By: Shivani Hasti | Created At: 03 April 2024 06:22 PM


banner
CG NEWS : रायपुर। नेता प्रतिपक्ष और छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष चरणदास महंत बुधवार को भाजपा के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल कांग्रेस नेता चरणदास महंत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर विवादित बयान दिया है। जो इस वक्त सुर्ख़ियों में बानी हुई है। बता दें डॉ महंत के बयान को लेकर भाजपा के नेता लगातार पलटवार कर रहे है। इस मुद्दे में बीजेपी के नेताओ ने निर्वाचन आयोग से शिकायत भी की है। साथ ही इसे लेकर भाजपाइयों ने पोस्टर वॉर भी शुरू कर दिया है और अब चरणदास महंत के निवास को घेरने के लिए निकल पड़े है। इधर नेता प्रतिपक्ष डॉ. चरणदास महंत ने इस मामले में फिर से बयान देते हुए कहा मेरे बयान को तोड़-मरोडक़र प्रचारित-प्रसारित करने वालों को स्पष्ट किया कि उन्हें छत्तीसगढ़ की रीति-नीति व संस्कृति का शायद ज्ञान नहीं है, इसलिए उनके सहज व विशुद्ध छत्तीसगढिय़ा वाक्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है।

Read More: महंत के विवादित बयान पर सियासत तेज : नितिन नबीन का पलटवार, बोले- 'PM के खिलाफ अमर्यादित बयान कांग्रेस का चरित्र बता रहा है'

डॉ. महंत ने कहा कि मैं विशुद्ध रूप से छत्तीसगढिय़ां संस्कृति में रचा-बसा हूं। छत्तीसगढ़ की भाषाशैली का उपयोग करते समय बीच-बीच में निर्धारित प्रयोग लक्षणा-व्यंजना में आने वाले शब्दों के साथ बात करता हूं। छत्तीसगढिय़ों में एक प्रचलित वाक्य जैसे-लउठी धर के दउड़ा न…, मार न टूरा ला… जैसे कई वाक्य सहज रूप से उपयोग में लाए जाते हैं लेकिन जो लोग छत्तीसगढ़ की रीति-नीति, भाषा संस्कृति को नहीं समझते, ऐसे मीडिया प्रतिनिधियों के द्वारा गलत ढंग से प्रस्तुत किया जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष डॉ. महंत ने कहा कि मुझे प्रधानमंत्री के पद और संसदीय परंपरा और गरिमा का पूरा ज्ञान है। मैं स्वयं 4 बार सांसद, 5 बार विधायक रहा और स्पीकर के साथ-साथ नेता प्रतिपक्ष होने के नाते संवैधानिक गरिमा का भी ख्याल है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कईयों बार व्यक्तिगत मुलाकातें हुई है और वे मुझे भी व्यक्तिगत तौर पर जानते हैं। एक पढ़ा-लिखा आदमी गलत बयानबाजी कैसे कर सकता है। डॉ. महंत ने मोदी के साथ की एक फोटो साझा करते हुए कहा कि जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री हुआ करते थे और मैं भारत सरकार में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री था तो उनके ही प्रदेश गुजरात के आणंद में आयोजित कार्यक्रम में काफी आत्मीयता से मुलाकात हुई। ऐसे व्यक्ति जो केवल भाजपा के नहीं बल्कि हर दल के लिए प्रधानमंत्री हैं, उन पर गलत टिप्पणी तो करने का सवाल ही नहीं उठता। राजनीति की आड़ लेकर मुझ जैसे सीधे-साधे और सरल-सहज छत्तीसगढिय़ा व्यक्ति की छवि और शीर्ष नेताओं के साथ संबंधों को खराब करने का काम न करें।