H

महुआ मोइत्रा को टक्कर देंगी शाही परिवार की राजमाता

By: Sanjay Purohit | Created At: 25 March 2024 04:08 PM


पश्चिम बंगाल में बीजेपी की तरफ से कृष्णानगर सीट से राजमाता अमृता रॉय को अपना उम्मीदवार बनाया है,

banner
लोकसभा चुनाव 2024 के लिए रविवार को भारतीय जनता पार्टी ने उम्मीदवारों की पांचवीं लिस्ट को जारी करते हुए 111 उम्मीदवारों के नामों की घोशना कर दी है। पश्चिम बंगाल में बीजेपी की तरफ से कृष्णानगर सीट से राजमाता अमृता रॉय को अपना उम्मीदवार बनाया है, जो अब टीएमसी की महुआ मोइत्रा को टक्कर देने वाली हैं। कृष्णानगर की सीट को पश्चिम बंगाल की अहम सीटों में से एक माना जाता है। बीजेपी के इस फैसले के बाद अब इसे महुआ मोइत्रा के खिलाफ हुकम का इक्का माना जा रहा है। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के लोकसभा चुनाव में इस बार महाराजा कृष्णचंद्र का नाम सीधे तौर पर राजनीति से जुड़ रहा है। अमृता रॉय, कृष्णानगर के प्रतिष्ठित राजबाड़ी की राजमाता भी हैं। उनकी संभावित उम्मीदवारी को लेकर पिछले कुछ दिनों से अटकलें चल रही हैं।

क्या बीजेपी को मिलेगा फायदा?

अमृता रॉय ने 20 मार्च को बीजेपी में शामिल होने का फैसला किया था। उन्होंने बंगाल में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी की मौजूदगी में बीजेपी की सदस्यता हासिल की थी। कृष्णानगर राजपरिवार की भूमिका आज भी याद की जाती है। चुनाव विशेषज्ञों का मानना है कि अमृता रॉय की उम्मीदवारी से बीजेपी को बढ़ावा मिलेगा और वह महुआ मोइत्रा को भी टक्कर दे सकेंगी। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक जिला नेतृत्व ने सबसे पहले अमृता को उम्मीदवार बनाने में दिलचस्पी दिखाई और फिर पार्टी ने उनसे बातचीत शुरू की। बताया गया कि कई दौर की बातचीत के बाद अमृता कैंडिडेट बनने के लिए तैयार हो गईं।

पिछले चुनाव में महुआ मोइत्रा की बड़ी जीत

टीएमसी लीडर महुआ मोइत्रा ने 2019 के लोकसभा चुनावों में 614872 वोटों से कृष्णानगर सीट से जीत हासिल की थी। जबकि बीजेपी के कल्याण चौबे को कुल 551654 वोट मिले थे। महुआ मोइत्रा ने 63218 के भारी अंतर से जीत को अपने नाम किया था। 2019 के लोकसभा चुनाव में महुआ की जीत के पीछे की वजह चोपड़ा, पलाशीपारा और कालीगंज विधानसभाएं थीं। इन तीनों विधानसभाओं से महुआ को भारी वोट मिले। पिछले पांच सालों में कालीगंज विधानसभा में बीजेपी का संगठन काफी मजबूत हुआ है।