H

Rajasthan Politics: डोटासरा बोले- सीएम ने पर्ची पढ़कर दिया राहुल गांधी पर बयान, बीजेपी-आरएसएस हिंदू समाज के ठेकेदार नहीं

By: payal trivedi | Created At: 03 July 2024 05:12 AM


कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने सीएम भजनलाल के ‘राहुल गांधी झूठ की दुकान चलाते हैं’ वाले बयान का पलटवार किया है। डोटासरा ने कहा- मुख्यमंत्री के आज केंद्रीय नेतृत्व से मिली पर्ची पढ़कर दिए बयान से साबित कर दिया कि राजस्थान में वास्तविक रूप से पर्ची सरकार चल रही है।

bannerAds Img
Jaipur: कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने सीएम भजनलाल के ‘राहुल गांधी झूठ की दुकान चलाते हैं’ वाले बयान का पलटवार किया है। डोटासरा ने कहा- मुख्यमंत्री के आज केंद्रीय नेतृत्व से मिली पर्ची पढ़कर दिए बयान से साबित कर दिया कि राजस्थान में वास्तविक रूप से पर्ची सरकार चल रही है। मुख्यमंत्री के पास प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए कोई मुद्दा नहीं था लेकिन, दिल्ली से आई पर्ची को पढ़कर उन्होंने धन्यवाद और चलो-चलो कहकर अपना संबोधन खत्म किया।

बोले- बीजेपी-RSS हिन्दू समाज के ठेकेदार नहीं

डोटासरा ने कहा- जिस भी व्यक्ति ने मुख्यमंत्री महोदय को पर्ची लिखकर दी उसने पर्ची बनाने में किसी तरह से बुद्धि का प्रयोग नहीं किया। लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष के तौर पर राहुल गांधी ने जो मुद्दे संसद में उठाए, वे सभी जनता के मुद्दे थे। राहुल गांधी ने गलत क्या कह दिया? बीजेपी और आरएसएस हिंदू समाज के ठेकेदार नहीं हैं। आरएसएस के स्वयंसेवक और बीजेपी नेता ही केवल हिंदू नहीं हैं। देश के करोड़ों लोग हिंदू धर्म को मानते हैं, लेकिन वे बीजेपी के नहीं हैं। हिंदू के होने के लिए किसी को बीजेपी से प्रमाण पत्र लेने की आवश्यकता नहीं है।

लोकसभा के रिजल्ट के बाद से मुख्यमंत्री आहत

डोटासरा ने कहा- लोकसभा चुनावों के रिजल्ट के बाद से मुख्यमंत्री आहत हैं और अपनी कुर्सी को लेकर बैचेन है। मुख्यमंत्री को यह समझना चाहिए कि पांच साल सरकार चलनी है, उन्हें इतना भी बैचेन नहीं होना चाहिए कि दिल्ली से जो पर्ची आए उसमें वह एक शब्द भी अतिरिक्त क्यों नहीं जोड़ पाते? मुख्यमंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी के बयान पर जो वाजिब सवाल था उसका जवाब दिए बिना क्यों उठ गए?

शाह ने स्पीकर पर दबाव बनाकर भाषण के कई अंश हटवाए

डोटासरा ने कहा- राहुल गांधी जनता की आवाज संसद में उठा रहे थे तब प्रधानमंत्री और गृह मंत्री बैचेनी का अनुभव कर रहे थे। राहुल गांधी के भाषण के दौरान देश के गृह मंत्री लोकसभा अध्यक्ष से नियमों की दुहाई देते हुए संरक्षण मांग रहे थे, रात को उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष पर दबाव बनाकर नियमों और प्रक्रियाओं के खिलाफ जाकर राहुल गांधी के भाषण के कई हिस्से एक्सपंज करवा दिए। बीजेपी को इसके लिए देशवासियों से माफी मांगनी चाहिए। डोटासरा ने कहा- देश के प्रधानमंत्री ने इसी संसद में हमारी पूर्व सांसद को अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हुए अपमानित किया था, उस वक्त बीजेपी के संस्कार कहां गए थे? अब समय आ गया है कि जनता अब हर गली-चौराहे पर भाजपा से सवालों के जवाब मांगेगी।