H

Rajasthan News: गोगामेड़ी के हत्यारों ने NIA की पूछताछ में किया बड़ा खुलासा, जयपुर के बिजनेसमैन पर थी नजर

By: payal trivedi | Created At: 27 March 2024 01:23 PM


अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारों को NIA की टीम जयपुर लेकर आई है। NIA की टीम लॉरेंस विश्नोई के दोनों गुर्गों से सोडाला थाने में पूछताछ कर रही है। पिछले 4-5 दिन से चल रही पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं।

banner
Jaipur: अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद सुखदेव सिंह गोगामेड़ी (Rajasthan News) के हत्यारों को NIA की टीम जयपुर लेकर आई है। NIA की टीम लॉरेंस विश्नोई के दोनों गुर्गों से सोडाला थाने में पूछताछ कर रही है। पिछले 4-5 दिन से चल रही पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। दरअसल, हरमाड़ा थाना इलाके में 11 मार्च को पकड़े गए हथियारबंद 3 बदमाश जयपुर में एक शराब कारोबारी का मर्डर करने आए थे। बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि इनको सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारे रोहित राठौड़ ने शराब कारोबारी को मारने का टास्क दिया था।

सोडाला थाने में की जा रही पूछताछ

सूत्रों के मुताबिक, इन तीनों बदमाशों से पूछताछ के बाद NIA की टीम हरकत में आई और करीब 4-5 दिन पहले अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद आतंकवादी लॉरेंस विश्नोई के गुर्गों रोहित राठौड़ और नितिन फौजी को लेकर जयपुर आई। यहां सोडाला थाने में इन हत्यारों से पूछताछ की जा रही है। सुरक्षा की दृष्टि से सोडाला थाने को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है। थाने के मेन गेट को बंद करने के साथ ही टेंट लगाकर थाने को ढक दिया गया है।

जयपुर के शराब कारोबारी का करवाना चाहते थे मर्डर

अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद गोगामेड़ी के हत्यारों (Rajasthan News) को जयपुर के एक शराब कारोबारी का मर्डर करवाना था। इसके लिए अनमोल विश्नोई गैंग के एक गुर्गे ने बदमाश उर्वेश मीणा और आकाश बंजारा की बात सिग्नल ऐप के जरिए रोहित राठौड़ से करवाई थी। शराब कारोबारी की हत्या का टास्क मिलने पर तीनों बदमाश उर्वेश मीणा (23) पुत्र हरसहाय मीणा निवासी भोटवाडा महावीरजी (करौली), कुश अग्रवाल (22) पुत्र श्याम सुंदर निवासी महावीरजी (करौली) और आकाश बंजारा (25) पुत्र वेदप्रकाश निवासी हरदुआगंज इलाका, अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) हथियार लेकर जयपुर आए थे। हरमाड़ा (जयपुर) पुलिस ने इनको पकड़ लिया था। तलाशी में इन बदमाशों से एक पिस्तौल, एक देसी कट्‌टा, 7 कारतूस मिले। पुलिस ने बदमाशों की स्कूटी को भी जब्त किया था। पुलिस के पीछा करने के दौरान 2 बदमाश उर्वेश और आकाश गड्ढे में गिरकर चोटिल हो गए थे।

होटल में ठहर कर की थी शराब कारोबारी की रेकी

तीनों बदमाश शराब कारोबारी की हत्या के लिए हथियार उत्तर प्रदेश से लेकर आए थे। इन बदमाशों ने कुछ दिन होटल में रुक कर शराब कारोबारी के घर और ठिकानों की रेकी की थी। रेकी के बाद हत्या कर भागने की पूरी प्लानिंग की गई थी। अपनी गिरफ्तारी से 1 सप्ताह पहले बदमाश शराब कारोबारी की हत्या के लिए निकले थे। रेकी किए गए ठिकाने पर पहुंचने पर शराब कारोबारी नहीं मिला तो इनको बिना हत्या किए ही वहां से निकलना पड़ा था। टारगेट मिस होने पर इन बदमाशों ने दोबारा शराब कारोबारी की रेकी की गई। उसके बाकी ठिकानों के साथ आने-जाने के टाइम को भी नोट किया गया। शराब कारोबारी के ठिकाने की पुख्ता लोकेशन होने पर 11 मार्च को दोबारा हत्या करने के लिए निकले थे, लेकिन पहले ही पुलिस ने उनको पकड़ लिया।

जमानत पर आए थे जेल से बाहर

उर्वेश और आकाश साल 2018 में एक मर्डर के मामले में भी जेल जा चुके हैं। उर्वेश का अलवर में करौली निवासी दीपक से बाइक को लेकर झगड़ा हो गया था। रंजिश के चलते उर्वेश ने दीपक मीणा को रेलवे लाइन के पास बुलाया था। जब दीपक मिलने पहुंचा तो उर्वेश ने अपने साथी आकाश के साथ मिलकर चाकू से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी थी। ट्रेन से एक्सीडेंट दिखाने के लिए शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। अलवर पुलिस ने दीपक की हत्या के मामले में दोनों को अरेस्ट कर जेल भेज दिया था। दोनों बदमाश कुछ समय पहले ही जमानत पर जेल से बाहर आए थे।

घर में घुसकर गोगामेड़ी को मारी थी गोलियां

लॉरेंस विश्नोई गैंग के शूटर रोहित राठौड़ और नितिन फौजी (Rajasthan News) ने 5 दिसंबर 2023 को राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को घर में घुसकर गोलियां मार दी थी। हत्या के बाद दोनों बदमाश फरार हो गए थे। घटना के कुछ देर बाद लॉरेंस गैंग के रोहित गोदारा ने इस हत्याकांड की जिम्मेदारी ली थी। पुलिस ने चंडीगढ़ से शूटर रोहित राठौड़ और नितिन फौजी को अरेस्ट किया था। पूछताछ के बाद दोनों को अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल भेजा दिया गया था। उधर, परिजनों और समाज के लोगों की मांग पर इस हत्याकांड की जांच NIA को सौंप दी गई थी।