H

CG NEWS : शराब के शौकीनों की जेब पर बढ़ेगा बोझ !सरकार शराब से वसूलेगी मोदी की गारंटी, अब विकास के लिए लगेगा 10 फीसदी इंफ्रास्ट्रक्चर टैक्स....

By: Shivani Hasti | Created At: 29 March 2024 01:00 PM


banner
संवाददाता राहुल अग्निहोत्री CG NEWS : छत्तीसगढ़ में मोदी की गारंटी पूरी करने के लिए अब सरकार ने नया रास्ता तलाश लिए है। महतारी वंदन, किसानों को बोनस और धान खरीदी में अंतर की राशि बांटने में ही राज्य सरकार का खजाना खाली हो गया है। जिसका सीधा असर अब प्रदेश के विकास पर हो रहा है। अब डेवलपमेंट की राशि राज्य सरकार शराब से वसूलने जा रही है। अप्रैल से शराब पर 10 फीसदी इंफ्रास्ट्रक्चर टैक्स लगाया जा रहा है। हालांकि पुराना 6 फीसदी टैक्स हटाया जा रहा है। छत्तीसगढ़ की पुरानी कांग्रेस सरकार ने शराब पर कोरोना, गोठान, शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए टैक्स लगाया था। ये छह फीसदी टैक्स था। अब भाजपा की सरकार इस टैक्स को हटाकर 10 फीसदी इंफ्रास्ट्रक्चर टैक्स लगाने जा रही है। प्रदेश के इस टैक्स से मिलने वाली राशि को प्रदेश के विकास में खर्च की जाएगा। इस टैक्स के लगने के बाद विदेशी शराब की एक बोतल पर 120 रुपये, आधा लीटर पर 80 रुपये और क्वाटर पर 40 रुपये का इजाफा हो जाएगा। इसी तरह देशी मदिरा पर बोतल में 80 रुपये, आधी बोतल पर 40 रुपये और क्वाटर पर 20 रुपये की वृध्दि होगी। ये नई दरें अप्रैल से लागू होंगी। सरकार ने पिछली साल शराब से 8 हज़ार करोड़ रुपये कमाए थे। इस साल ये टारगेट 9 हज़ार करोड़ तक रखा जा रहा है। इस मामले में सत्ता पक्ष का कहना है कि पिछली सरकार का टेक्स भ्रष्टाचार के लिए था। इस सरकार में टेक्स विकास के लिए है। Read More :

Read More: CG NEWS : पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की बताई तरकीब,कितना तर्कसंगत है बघेल का यह बयान, क्या एक लोकसभा सीट से खड़े हो पाएंगे 384 प्रत्याशी..?

आपको बताते है कि शराब के शौकीनों में छत्तीसगढ़ देश का नंबर वन राज्य माना जाता है। अब इन शौकीनों की जेब से ही सरकार प्रदेश के विकास के लिए पैसे निकालने जा रही है। छत्तीसगढ़ आबकारी विभाग के आंकड़े बताते है कि वित्तीय वर्ष 2022 और 2023 में 13 हजार करोड़ रुपए कमाए हैं।461.37 लाख प्रूफ लीटर सिर्फ देशी शराब साल 2022 में बिकी 353.81 लाख प्रूफ लीटर विदेशी शराब साल 2022 में बिकी267.07 लाख प्रूफ लीटर विदेशी माल्ट शराब यानी बियर की खपत साल 2022 में हुई। 2023 के आंकड़ों पर नजर डालें तो- 229.71 लाख प्रूफ लीटर सिर्फ देशी शराब साल 2023 में बिकी 258.67 लाख प्रूफ लीटर विदेशी शराब साल 2023 में बिकी 221.62 लाख प्रूफ लीटर बीयर की बिक्री 2023 में हुई... भाजपा सरकार के नए इंफ्रास्ट्रक्चर टेक्स पर कांग्रेस भी आरोप लगा रही है। कांग्रेस का कहना है कि जो भाजपा 5 सालों तक शराब बंदी पर भाषण देती रही वही अब शराब से काली कमाई का रास्ता खोज रही है।

प्रदेश में विकास का रास्ता खोज रही है : संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला

प्रदेश की तरक्की के लिए खजाने में हजारों करोड़ रुपए का सहयोग देने वाले शराबियों का मदिरा प्रेम इतना है कि वे सांल भर में ही इतनी शराब गटक जाते है जो देश के किसी भी राज्य में सबसे ज्यादा है। कहने को तो छत्तीसगढ़ छोटा राज्य है लेकिन शराब प्रेमियों की संख्या देश के किसी भी राज्य से ज्यादा छत्तीसगढ़ में ही है। अलग अलग सालों में शराब बिक्री के आंकड़े बदलते रहते है लेकिन शराब पीने बालो की संख्या प्रदेश के खजाने में जो सहयोग करती है उससे सरकार प्रदेश के अलग अलग विकास के काम करती है।महज दो सालों के शारब बिक्री के आंकड़े और उससे प्राप्त राजस्व इतना है कि कुछ छोटे राज्यो का कुल बजट भी इतना नही है। छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा सबसे ज्यादा शराब की खपत राजधानी रायपुर सहित पूरे जिले में होती है। ओर इसी शराब की बिक्री से सरकार अब टेक्स बसूलकर प्रदेश में विकास का रास्ता खोज रही है।

Read More: CG NEWS : बिलासपुर में अनशन पर बैठे जगदीश कौशिक को मनाने पहुंचे कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र यादव...